खनिज विभाग के संरक्षण में हो रहा खनिज संसाधनों का जमकर दोहन, दिखावे के लिए की जा रही कार्यवाही

०० मालवे का खनिज माफिया से साठगाठ, अधिकारी के इशारे पर दिखावे के लिए होती है कार्यवाही  

०० जिले में जमकर हो रहा है खनिज संसाधनों का अवैध परिवहन,खनिज विभाग के अधिकारी है मौन

०० मस्तुरी क्षेत्र में हो रहा जमकर अवैध उत्खनन, खनिज अधिकारी साधे बैठे है चुप्पी  

बिलासपुरजिले में खनिज संसाधनों का दोहन खुलेआम किया जा रहा है वही खनिज विभाग के अधिकारी मौन साधे हुए है,अधिकारियो के मौन साधने का मुख्य कारण अवैध खनिज माफियाओं से साठगाठ है जिसके चलते महज दिखावे के नाम पर कार्यवाही कर इतिश्री की जा रही है, खनिज विभाग ने अलग अलग जगहों पर छापामार कार्यवाही की जिसमे कछार, सेंदरी, निरतु, गोंदईया और तुर्काडीह से रेत से भरे हुए 15 वाहन जब्त कर खनिज अधिनियम के तहत कार्यवाही की गयी है जो महज दिखावा मात्र है जबकि मस्तुरी तहसील के कई स्थानों पर अवैध क्रशर, ईट भट्टो का संचालन बेधडक किया जा रहा है| इस क्षेत्र में सबसे ज्यादा बिना रायल्टी के रेत उत्खनन माफिया द्वारा किया जा रहा जो बिलासपुर शहर में हो रहे निर्माण कार्यो के लिए उपयोग किया जा रहा है वही खनिज विभाग के जिम्मेदार अधिकारी महज दिखावे के लिए कार्यवाही कर अपनी जिम्मेदारी से इतिश्री करने में लगे हुए है|

बिलासपुर जिले में खनिज संसाधनों की बहुतायात है,जिसके चलते लगातार खनिज माफियाओ द्वारा इलाके की खनिज सम्पदा का जमकर दोहन खुलेआम किया जा रहा है| जिले के तखतपुर, मस्तुरी, कोटा में खनिज माफियाओ द्वारा अवैध खनिज परिवहन किया जा रहा है जिसके बाद भी जिला खनिज अधिकारी आर मालवे द्वारा किसी भी प्रकार की कार्यवाही नहीं की जा रही है|तखतपुर तहसील में अवैध इट भट्टा, मुरुम, गिट्टी रेत सहित कई मामलों को लेकर नया इंडिया द्वारा प्रमुखता से खबरो का प्रकाशन किया गया है,साथ ही इन मामलों के संबंध में जिला खनिज अधिकारी से किये जाने की बात भी कही गयी है  मगर जिला खनिज अधिकारी आर.मालवे द्वारा इस मामले को लेकर किसी भी प्रकार की गंभीरता नहीं दिखाई गयी| मस्तुरी तहसील में नव-निर्मित सडक निर्माण के ठेकेदार द्वारा अवैध खनन कर खनिज संसाधनों का उपयोग किये जाने की शिकायत नया इंडिया के द्वारा किया गया मगर जिला खनिज अधिकारी के मनमाने रेवैये की वजह से ठेकेदार को आश्रय देकर सड़क निर्माण में निर्बाध गति से खनिज का उपयोग किया जा रहा है जिस पर आज तक कार्यवाही नहीं की गयी है| जिला खनिज अधिकारी आर.मालवे की पदस्थापना के बाद से ही जिले में खनिज ससधानो का जमकर दोहन किया जा रहा है साथ ही खनिज माफियाओ से मिलीभगत कर शासन को करोड़ो के राजस्व का चुना लगाया जा रहा है|

जिला खनिज अधिकारी आर.मालवे की भूमिका संदिग्ध:- विगत दिनों एसीबी द्वारा रिश्वत लेते पकडे गए खनिज निरीक्षक ओम प्रकाश खांडेकर ने जिला खनिज अधिकारी आर.मालवे पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि आर.मालवे एवं खनिज निरीक्षक उत्तम खूटे द्वारा अवैध खनिज परिवहनकर्ताओ को लगातार बिना कार्यवाही किये छोड़ा जाता रहा है| मुझे फंसाने की साजिश रची गयी है इसमें माइनिंग अधिकारी आर.मालवे और इंस्पेक्टर की महत्वपूर्ण भूमिका है। उत्तम खूंटे और अधिकारी का ड्रायवर कार्रवाई करते समय आरोपियों को छोड़ देते हैं। अधिकारी मालवे पकड़े गये लोगों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करते हैं। जब मैने कार्रवाई की तो अधिकारी के निर्देश में एसीबी ने छापा मारा। खाण्डेकर ने बताया कि माइनिंग अधिकारी और इंस्पेक्टर उत्तम खूंटे की भूमिका संदिग्ध है। उन लोगों के खिलाफ अभी तक किसी प्रकार की कार्रवाई क्यों नही की गयी। जबकि ये लोग क्या करते हैं सबको मालूम है

मस्तुरी क्षेत्र में खनिज माफिया सक्रिय, महज दिखावे के लिए होती है कार्यवाही :- मस्तुरी क्षेत्र के खनिज अधिकारी  के संरक्षण में खनिज माफिया सक्रीय है| खनिज अधिकारी महज दिखावे के लिए क्षेत्र की प्रभारी अधिकारी है जिनके द्वारा क्षेत्र में हो रहे अवैध खनिज उत्खनन व परिवहन के खिलाफ किसी भी तरह की कार्यवाही कभी भी नहीं की गयी है|सूत्रों की माने तो खनिज अधिकारी के खनिज माफियाओ से तगड़ी साठगाठ है जिसके चलते उनके खिलाफ कार्यवाही नहीं की जा रही है| खनिज विभाग ने अलग अलग जगहों पर छापामार कार्यवाही की जिसमे कछार, सेंदरी, निरतु, गोंदईया और तुर्काडीह से रेत से भरे हुए 15 वाहन जब्त कर खनिज अधिनियम के तहत कार्यवाही की गयी है जो महज दिखावा मात्र है जबकि मस्तुरी तहसील के कई स्थानों पर अवैध क्रशर, ईट भट्टो का संचालन बेधडक किया जा रहा है| इस क्षेत्र के खनिज अधिकारी द्वारा लगातार खनिज माफियाओं को संरक्षण देकर इट भट्टा,रेत उत्खनन,गिट्टी,मुरुम सहित अन्य खनिज संसाधनों का जमकर दोहन करने की खुली छुट प्रदान की गयी है जिसके चलते इस क्षेत्र में अन्य क्षेत्रो की अपेक्षा अधिक खनिज संसाधनों का दोहन किया जा रहा है|

error: Content is protected !!