किसानों की मेहनत से ही राज्य प्रगति की ओर अग्रसर: डॉ. रमन सिंह

०० मुख्यमंत्री ने किया प्रदेश व्यापी बोनस तिहार का शुभारंभ

०० मुख्यमंत्री के एक क्लिक पर 1.82 लाख किसानों के खातों में पहुंची 281 करोड़ रूपए से ज्यादा बोनस की राशि

०० बलौदाबाजार-बिलासपुर में किसानों ने मुख्यमंत्री का जोशीला स्वागत

रायपुर| मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार गांव-गरीब और किसानों की सरकार है। किसान अन्नदाता हैं, उनकी मेहनत और उनके पसीने के बलबूते ही राज्य में अनाज उत्पादन में आत्मनिर्भर बन रहा है। डॉ. सिंह ने कहा किसान और मजदूर  छत्तीसगढ़ राज्य के असली निर्माता हैं, जिनकी मेहनत से ही प्रदेश निरंतर प्रगति की ओर अग्रसर है। मुख्यमंत्री ने आज जिला मुख्यालय बलौदाबाजार और बिलासपुर में प्रदेश व्यापी बोनस तिहार की शुरूआत करते हुए इस आशय के विचार व्यक्त किए। दोनों आयोजनों में किसानों ने मुख्यमंत्री का जोशीला स्वागत और अभिनंदन किया।

डॉ. सिंह ने कहा – किसानों को उनकी मेहनत का वाजिब मूल्य दिलाने के लिए जहां प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों के उपार्जन केन्द्रों में धान खरीदी की बेहतर व्यवस्था की गई है, वहीं उन्हें वर्ष 2016 के धान के लिए 300 रूपए प्रति क्विंटल की दर से 2100 करोड़ रूपए का बोनस भी दिया जा रहा है। उन्होंने दोनों जिला मुख्यालयों में एक लाख 83 हजार किसानों को 281 करोड़ 41 लाख रूपए की बोनस राशि का ऑनलाइन भुगतान किया। डॉ. सिंह के द्वारा कम्प्यूटर लेपटॉप में क्लिक करते ही बोनस की राशि किसानों के खातों में पहुंच गई। इस अवसर पर मुख्यमंत्री दोनों जिलों के लिए लगभग 442 करोड़ रूपए के विभिन्न निर्माण कार्याें का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास भी किया।

उन्होंने दोनों कार्यक्रमों में विशाल जनसभाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि बोनस वितरण के जरिये राज्य सरकार अपना एक बड़ा संकल्प आज पूरा कर रही है। हमने किसानों को दीपावली से पहले बोनस देने का संकल्प लिया था। सहकारी समितियों में इस वर्ष धान बेचने वाले किसानों को अगले वर्ष बोनस दिया जाएगा। उन्होंने बोनस राशि की स्वीकृति प्रदान करने पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के प्रति आभार प्रकट किया। मुख्यमंत्री ने बलौदाबाजार के नवनिर्मित स्टेडियम में आयोजित बोनस तिहार में एक लाख 09 हजार किसानों को लगभग 166 करोड़ 68 लाख रूपए की बोनस राशि का ऑन लाइन वितरण किया। उन्होंने वहां करीब 195 करोड़ रूपए के विभिन्न निर्माण कार्यों का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास भी किया, जिनमें दो करोड़ 03 लाख रूपए की लागत से निर्मित बलौदाबाजार नगर पालिका भवन, आठ करोड़ 06 लाख रूपए की लागत से निर्मित सरकारी जिला अस्पताल भवन, दो करोड़ करोड़ रूपए की लागत से निर्मित जिला पंचायत भवन और 18 करोड़ 74 लाख रूपए की लागत से निर्मित संयुक्त जिला कार्यालय भवन का लोकार्पण भी शामिल हैं। मुख्यमंत्री ने बलौदाबाजार कलेक्टोरेट परिसर में पंडित दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा स्थापना की भी घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने बोनस तिहार में हजारों की संख्या में आए किसानों को सम्बोधित करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के इतिहास में यह पहला अवसर था, जब हमारी सरकार ने विधानसभा का एक दिवसीय विशेष सत्र बुलाकर किसानों को बोनस देने के लिए 2100 करोड़ रूपए का अनुपूरक बजट पेश किया, जो ध्वनिमत से पारित किया गया। यह विशेष बजट सत्र किसानों के प्रति राज्य सरकार और हमारी विधानसभा की संवेदनशीलता को प्रकट करता है। डॉ. रमन सिंह ने कहा – बोनस तिहार की शुरूआत बलौदाबाजार से की जा रही है। यह अंचल छत्तीसगढ़ की पूण्य भूमि है, जहां प्रदेश के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम सेनानी अमर शहीद वीरनारायण सिंह की जन्म और कर्मभूमि सोनाखान, महान समाज सुधारक गुरू बाबा घासीदास की जन्म स्थली और तपोभूमि गिरौदपुरी, कबीरपंथ का विश्व प्रसिद्ध केन्द्र दामाखेड़ा और महर्षि वाल्मिकी की तपोभूमि तुरतुरिया स्थित है। डॉ. सिंह ने कहा प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश में सबके साथ सबके विकास की भावना के अनुरूप विकास का एक नया युग शुरू हुआ है। श्री मोदी ने किसानों के लिए प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना और प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना सहित कई कल्याणकारी योजनाओं की शुरूआत  की है। डॉ. रमन सिंह ने इस बार अल्पवर्षा की वजह से छत्तीसगढ़ की 96 तहसीलों में सूखे की स्थिति उत्पन्न होने का भी उल्लेख किया और कहा कि प्रदेश सरकार   इस प्राकृतिक आपदा से निपटने के लिए किसानों को हर संभव मदद कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा – इस वर्ष सूखे की स्थिति में छत्तीसगढ़ के प्रभावित किसानों को तीन प्रकार से राहत मिल रही है। प्राकृतिक आपदा को देखते हुए उन्हें राजस्व पुस्तक परिपत्र (आर.बी.सी) 6-4 के तहत फसल क्षति का समुचित मुआवजा दिया जाएगा, उन्हें फसल बीमा योजना का भी लाभ मिलेगा और बोनस की राशि भी उन्हें दी जा रही है।

मुख्यमंत्री ने बिलासपुर के साइंस कॉलेज मैदान में आयोजित बोनस तिहार में 74 हजार 500 किसानों को 114 करोड़ 73 लाख रूपए का बोनस ऑन लाइन वितरित किया। डॉ. सिंह इस मौके पर वहां 247 करोड़ रूपए के विभिन्न निर्माण कार्यों का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास भी किया। बलौदाबाजार के बोनस तिहार में मुख्यमंत्री के साथ विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री श्री पुन्नूलाल मोहले, कृषि मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल, पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री श्री अजय चन्द्राकर, लोकसभा सांसद श्रीमती कमलादेवी पाटले, बिलाईगढ़ के विधायक और अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष डॉ. सनम जांगड़े, भाटापारा के विधायक और राज्य खनिज विकास निगम के अध्यक्ष श्री शिवरतन शर्मा, राज्य सहकारी बैंक के अध्यक्ष श्री अशोक बजाज, राज्य बीज और कृषि विकास निगम के अध्यक्ष श्री श्याम बैस और अध्यक्ष जिला पंचायत बलौदाबाजार श्रीमती पूनम मारकण्डेय सहित अनेक जनप्रतिनिधि तथा हजारों की संख्या में किसान उपस्थित थे। इस अवसर पर किसानों की ओर से विशाल पुष्पमाला पहनाकर मुख्यमंत्री का अभिनंदन किया गया।

मुख्यमंत्री के साथ बिलासपुर के बोनस तिहार में नगरीय प्रशासन और विकास मंत्री श्री अमर अग्रवाल, कृषि और जल संसाधन मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल, पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री श्री अजय चन्द्राकर, खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री श्री पुन्नूलाल मोहले, सहकारिता, पर्यटन और संस्कृति मंत्री श्री दयालदास बघेल और लोकसभा सांसद श्री लखनलाल साहू सहित अनेक वरिष्ठ जनप्रतिनिधि मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने बिलासपुर के बोनस तिहार में 74 हजार 500 किसानों को 114 करोड़ 73 लाख रूपए के बोनस का ऑन लाइन वितरण किया। वहीं उन्होंने जिले के विकास के लिए लगभग 247 करोड़ रूपए के विभिन्न निर्माण कार्यों का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास किया।

 

बिलासपुर में लोकार्पण-भूमिपूजन :- मुख्यमंत्री हाथों लोकार्पित निर्माण कार्याें में तखतपुर विकासखण्ड के ग्राम पोड़ीकला में शासकीय उच्च.माध्य.विद्यालय भवन 95.35 लाख, शासकीय इंदिरा कन्या उच्च.माध्य. विद्यालय भवन ग्राम तखतपुर 95.35 लाख, शासकीय उच्च.माध्य.विद्यालय भवन, ग्राम उसलापुर 95.35 लाख, शासकीय हाईस्कूल भवन ग्राम पाली 45.05, प्राथमिक केन्द्र भवन ग्राम दैजा लागत 49.57 लाख, उप स्वास्थ्य केन्द्र भवन ग्राम काठाकोनी 22.81 लाख, 16.60 कि.मी. का चौड़ीकरण, मजबूतीकरण एवं डामरीकरण कार्य, काठाकोनी से मेड़पार मार्ग 2306.42 लाख, बिल्हा विकासखण्ड के तिफरा में दृष्टि बाधित निःशक्तजनों हेतु बेलप्रेस में अतिरिक्त कक्ष 25 लाख, कोटा विकासखण्ड के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र ग्राम आमागोहन 60 लाख, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र ग्राम रतनपुर 1.37 लाख, गौरेला विकासखण्ड में 50 बिस्तर एमसीएच भवन गौरेला 9 लाख, बिल्हा विकासखण्ड में निपनिया नाला पर 12.00-12.00 मी. चौड़ाई के दो उच्चस्तरीय पुलों (फोरलेन) भी शामिल हैं। उन्होंने इस अवसर पर विकासखण्ड हिर्री-बिल्हा मार्ग 311 लाख, सोन नदी एवं खुज्जी नाला पर पुल निर्माण कोल बिर्रा-सिलपहरी मार्ग 696 लाख, तिपान नदी पर पुल निर्माण डोगनिया से सपनी मार्ग 209 लाख, तखतपुर विकासखण्ड के मनियारी नदी पर पुल निर्माण तखतपुर के पंचबहरा (छिरहापारा) अमलीकांपा मार्ग 252 लाख, शासकीय पातालेश्वर महाविद्यालय मस्तूरी में 08 नग अतिरिक्त कक्षों का निर्माण एवं विद्युतीकरण कार्य मस्तूरी 140 लाख, शासकीय महामाया महाविद्यालय रतनपुर में 08 नग अतिरिक्त कक्षों का निर्माण एवं विद्युतीकरण कार्य 140 लाख, शासकीय कन्या पॉलीटेक्निक बिलासपुर में 50 सीटर कन्या छात्रावास एवं अधीक्षिका सह चौकीदार आवास का निर्माण 192.72 लाख एवं शासकीय कन्या पॉलीटेक्निक स्थापना भवन निर्माण 899.60 लाख का भी लोकार्पण किया। डॉ. सिंह ने जिन निर्माण कार्यों का भूमिपूजन और शिलान्यास किया, उनमें बिलासपुर में आडोटोरियम निर्माण 1344.74 लाख, राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के अंतर्गत हाईस्कूल भवन निर्माण विकासखण्ड तखतपुर ग्राम कुरेली 62.83 लाख, मार्ग लंबाई 12.35 कि.मी. का चौड़ीकरण मजबूतीकरण एवं डामरीकरण खम्हरिया राजपुर दैजा मार्ग 3153.83 लाख, बरद्वार सक्ष्म सिंचाई योजना ग्राम टांडा 445.10 लाख, देवरी जलाशय योजना  ग्राम देवरी 241.91 लाख, सड़क निर्माण ग्राम पडरिया से अमोलीकांपा 125.28 लाख, सड़क निर्माण ग्राम हरदी से देवतरा 152.19 लाख, विकासखण्ड कोटा में 7.070 कि.मी. ग्राम बेलगहना से ग्राम उपका 517.435 लाख,  अरपा नदी पर फोरलेन पुल निर्माण बिलासपुर -रतनपुर मार्ग पर (प्रताप चौक के पास) लागत 1916 लाख, शिवनाथ नदी पर उच्चस्तरीय पुल निर्माण रहटाटोर से नयापारा लागत 2133 लाख आदि सम्मिलित हैं।

 

error: Content is protected !!