बोनस तिहार से पहले दो किसानों ने की आत्महत्या

०० किसान पर था भारी भरकम कर्ज का दबाव

रायुपर| भारी भरकम कर्ज से परेशान फिर दो किसानों ने आत्महत्या कर ली। एक किसान राजधानी से लगे बेलटुकरी गांव का है तो वहीं,दूसरा मुख्यमंत्री के गृहग्राम जिला कबीरधाम के कोरेसरा गांव का है। दोनों के ऊपर लाखों रुपए कर्ज चुकाने का दबाव था। गौरतलब है कि सीएम रमन सिंह ने प्रदेश के 13 लाख किसानों को बोनस देने की घोषण कर बोनस तिहार मनाने की घोषण की है। लेकिन लगातार मौत की खबरों ने सरकार के कामों पर कई सवाल खड़े कर रहे है। इधर कर्ज से परेशान दो किसानों की मौत की खबर सुनते ही सरकार के खिलाफ कांग्रेस पार्टी में भारी गुस्सा दिख रहा है।

मिली जानकारी के अनुसार धरसींवा के बेलटुकरी निवासी किसान किशन ढीमर की लाश आज संदिग्ध परिस्थितियों में परिजनों ने देखा। उसने खेत में ही खुदकुशी कर ली थी। बताया जा रहा कि किशन खेती-किसानी के लिए 2 लाख रुपए का कर्ज लिया था। परिजनों का कहना है कि कर्ज के कारण घर का माहौल बिगड़ गया था। वहीं, सरकार से मदद की सारी उम्मीदें खत्म हो गई थी। फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। किसान का अंबेडकर अस्पताल में पोस्टमार्टम कराया गया।

कबीरधाम के किसान ने की आत्महत्या :- कबीरधाम के कारेसरा निवासी कुंजबिहारी साहू ने आज अपने खेत में सल्फास की गोली खाकर आत्महत्या कर ली। वह हर दिन की तरह खेत काम करने गया था। जब परिजन खेत पहुंचे तो किसान की लाश देखकर सभी के होश उड़ गए। पुलिस को सूचना दी गई। बताया जा रहा है कि कुंजबिहारी साहू के ऊपर लगभग 1 लाख रुपए का कर्जा था। इसे नहीं चुका पाने को लेकर पिछले कई दिनों से वह काफी परेशान था। साथ ही वह बीमारी से भी जूझ रहा था। कहा जा रहा है कि बीमारी और कर्ज से परेशान होकर खेत में आत्महत्या कर ली। फिलहाल पुलिस ने मर्ग कायम कर विवेचना शुरू कर दी है।

error: Content is protected !!