किसानों को आत्महत्या के लिए मजबूर कर रही भाजपा सरकार : धनेंद्र साहू

रायपुर| राज्य के वरिष्ठ मंत्री प्रेम प्रकाश पांडे के किसानों की आत्महत्या संबंधी बयान पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कांग्रेस के किसान नेता धनेंद्र साहू ने कहा है कि यह बेहाल, बदहाल और आत्महत्या के लिए मजबूर हो रहे किसानों का अपमान है और इसके लिए प्रेम प्रकाश पांडे और पूरी सरकार को माफी मांगनी चाहिए।
धनेंद्र साहू ने कहा है कि लाखों लोगों की आत्महत्या और किसानों की आत्महत्या की तुलना वही अज्ञानी कर सकता है जिसने कभी खेती न की हो। उन्होंने कहा है कि अगर किसान आत्महत्या के लिए मजबूर हो रहे हैं तो इसके लिए सीधे तौर पर भाजपा सरकार की नीतियां जिम्मेदार हैं जो किसान को ऐसा आत्मघाती कदम उठाने पर विवश कर रही है।उन्होंने यहां जारी एक बयान में कहा है कि पिछले 14 वर्षों से किसानों को दगा दे रही रमन सिंह सरकार के मंत्री को इस समय शर्मिंदा होना चाहिए कि उनके झूठ ने किसानों को बदहाल कर दिया है। इसी सरकार ने 300 रुपए बोनस और 2100 रुपए समर्थन मूल्य के झूठे वादे किए, यह झूठा भरोसा दिलाया कि दाना-दाना खरीदा जाएगा और अब वही किसानों की आत्महत्या पर सवाल उठा रहे हैं।पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री साहू ने कहा है कि किसान अन्नदाता है और उसी का उपजाया अन्न खाकर श्री पांडे यह बयान देने खड़े हो पा रहे हैं। उन्हें समझना होगा कि किसान ही अकेला ऐसा निरीह उत्पादक है जो अपने उत्पादन का मूल्य खुद तय नहीं कर पाता, जो कीमत उसे मिलती है वह दरअसल कृतज्ञता उपहार है जो दुर्भाग्य से उसकी लागत से भी कम होता है। ठीक उसी तरह जिस तरह से सीमा पर खड़ा जवान देश की रक्षा करता है और उसे तनख्वाह भी मिलती है लेकिन जो कुछ उसे मिलता वह उसकी सेवा के बदले कुछ भी नहीं होता। इसलिए जवानों को पूरा देश सम्मान से देखता है और जब वह जान गंवाता है तो शहीद कहलाता है।श्री साहू ने कहा है, “आज प्रेम प्रकाश पांडे जी किसानों की आत्महत्या पर सवाल उठा रहे हैं, कल वे सीमा की रक्षा कर रहे जवानों की शहादत पर भी सवाल उठाएंगे और कहेंगे कि जब जवानों को काम के लिए पैसा मिल रहा है तो शहादत किस बात की? श्री पांडे और उनकी पार्टी ‘जय जवान-जय किसान’ वाले इस देश को समझते ही नहीं है।”धनेंद्र साहू ने कहा है कि सरकार को प्रेमप्रकाश पांडे के बयान के लिए किसानों से माफी मांगनी चाहिए।

 

error: Content is protected !!