बालाजी अस्पताल के विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा स्वास्थ्य शिविर में 85 बच्चों की जांच

कलेक्टर ने किया स्वास्थ्य शिविर का निरीक्षण
मुंगेली- कलेक्टर नीलम नामदेव एक्का के मार्गदर्शन में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत संचालित राष्ट्री बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम चिरायु के तहत आज शासकीय जिला चिकित्सालय मुंगेली में स्वास्थ्य विभाग एवं श्री बालाजी हॉस्पीटल रायपुर के संयुक्त तत्वावधान में स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में चिन्हांकित बच्चों में 9 बिमारियों यथा जन्मजात मोतियाबिंद, जन्मजात हृदय रोग, व्होट एवं तालु की विकृति, न्यूरल ट्यूब, पैर की विकृति, जन्म जाति रेटिना संबंधी विकास, हृदय रोग, कल्हों के विकास संबंधी विकार, जन्मजात बधिरता का निःशुल्क उपचार किया गया। जिले के तीनों विकासखण्डों मुंगेली से 31, पथरिया से 22 एवं लोरमी से 32 बच्चों को लाये गये थे। अपर कलेक्टर शरीफ मोहम्मद, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आरएल घृतलहरे, जिला कार्यक्रम प्रबंधक उत्कर्ष तिवारी, सिविल सर्जन डॉ. आरके भुआर्य के देखरेख में स्वास्थ्य शिविर सफलता पूर्वक संपन्न हुआ। शिविर में बालाजी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साईंसेस प्रा.लि. रायपुर के डॉ. टी.डी. माखीजा, डॉ. गजानंद, एल्मा डॉ. अनुभव, डॉ. सविता तथा मुंगेली के नाक, कान, गला रोग विशेषज्ञ डॉ. एम.के. राय ने अपनी सेवाएं दी। मुंगेली विकासखण्ड के हार्ट के 6, हड्डी के 10, ईएनटी के 12, पथरिया विकासखण्ड के हार्ट के 7, हड्डी के 10, एमआरआई के 2, अन्य के 3 एवं लोरमी विकासखण्ड के सीएचडी के 10, ऑर्थो के 6, ईएनटी के 8, पेडिया से पीड़ित 8 बच्चे पाये गये। नाक, कान, गला रोग विशेषज्ञ डॉ. राय ने बताया कि कुल 14 बच्चों की जांच की गई। इनमें 6 बहरा रोग के बच्चों को मेडिकल कॉलेज रायपुर भेजा गया। इसी तरह एक मानसिक रोगी को सेंदरी अस्पताल भेजा गया। लोरमी विकासखण्ड के ग्राम कुर्मी मोहतरा के 8 वर्षीय करन और भूपेंद्र का कान साफ करने से सुनाई देने लगी। ग्राम घोरबंधा की तुषारणी को तालु आपरेशन हेतु मेडिकल कालेज रायपुर भेजा जायेगा। स्वास्थ्य शिविर में हृदय रोग विशेषज्ञ, शिशु रोग विशेषज्ञ, स्त्री रोग विशेषज्ञ, प्लास्टि सर्जरी विशेषज्ञ उपस्थित थे।

error: Content is protected !!