कलेक्टर ने किया हरी झण्डी दिखाकर कौशल विकास रथ को रवाना

मुंगेली- अग्रणी तकनीकी शिक्षण एवं कौशल विकास के क्षेत्र में कार्यरत संस्थान आईसेक्ट द्वारा युवाओं से कौशल विकास की जानकारी साझा करने के उद्देश्य से देश व्यापी कौशल विकास यात्रा का आयोजन किया जा रहा है। इसी तारतम्य में आज कलेक्टोरेट परिसर में कलेक्टर एन.एन. एक्का द्वारा कौशल विकास यात्रा रथ को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया गया। जहां सैकड़ो विद्यार्थियों ने उत्साहपूर्वक यात्रा का स्वागत किया। साथ ही कौशल विकास के महत्व की जानकारी प्राप्त की। इस दौरान सेमिनार में विभिन्न गतिविधियां आयोजित की गई कौशल विकास यात्रा कई वर्षो से आईसेक्ट द्वारा युवाओं के बीच कौशल विकसित करने के महत्व को समझने के लिए एक अनूठा प्रयास कर रहा है। जिसे विभिन्न एजेंसियों द्वारा पुरस्कृत भी किया गया है। इस दौरान छात्रों को अन्य कार्य और डिजिटल लिटरेसी मिशन की जानकारी भी प्रदान की गई।
उल्लेखनीय है कि आईसेक्ट-एनएसडीसी पार्टनरशिप कार्यक्रम के तहत इन यात्राओं का आयोजन किया जा रहा है। ये यात्राएं 18 सितम्बर से 10 अक्टूबर 2017 के बीच पूरे देश में 25 राज्यों एवं लगभग 250 जिलों में विभिन्न मार्गो पर एक साथ चलते हुए सैकड़ों ब्लॉक/तहसील मुख्यालयों से होकर गुजरेंगी। आईसेक्ट के क्षेत्रीय प्रबंधक योगेश मिश्रा ने बताया कि आईसेक्ट इन यात्राओं के माध्यम से प्रदेश के युवाओं में रोजगारोन्मुखी पाठ्यक्रम के प्रति चेतना का विकास करना है। उन्होने बताया कि भविष्य में भारत के विकास तथा निर्माण में कौशल (स्किल्स) का विशेष महत्व रहेगा और स्किल्स में पारंगत व्यक्ति त्वरित रोजगार प्राप्त करने की संभावनाएं अधिक होती है। यह भी बताया गया कि किन-किन स्किल्स के पाठ्यक्रम वर्तमान में उपलब्ध है और भविष्य में कौन से शुरू होना है।
इस अवसर पर एक सेमिनार का आयोजन भी स्थानीय आईसेक्ट केन्द्र. पाण्डेय कम्प्यूटर गर्ल्स स्कूल रोड पर किया गया । इसमें विद्यार्थी वर्ग, युवा वर्ग, रोजगार चाहने वाले, शिक्षाविद, चिंतक व बुद्धिजीवी शामिल हुए। सेमिनार में आईसेक्ट-एनएसडीसी द्वारा चलाएं जा रहें रोजगारोन्मुख कार्यक्रमों की जानकारी विस्तार से दी गई। साथ ही कोर्स के दौरान छात्रों का कौशल विकास एवं कोर्स के उपरांत प्राप्त करने में सहायता प्रदान करने के लिए आईसेक्ट स्किल्स मिशन के प्रयास तथा उपायों पर विस्तार से चर्चा की गई। आईसेक्ट सेंटर पर आयोजित सेमिनार में जिला प्रबंधक प्रदीप पाण्डेय ने आईसेक्ट-एनएसडीसी की इन यात्राओं के महत्व पर प्रकाश डालते हुए बताया कि इस अभिनव प्रयास से जिले के युवाओं को रोजगारोन्मुख मार्गदर्शन प्राप्त होगा।

error: Content is protected !!