हार्डकोर नक्सली सहित जनमिलिशिया कमांडर गिरफ्तार

जगदलपुर। छत्तीसगढ़ की बस्तर संभाग पुलिस ने अलग-अलग जिलों में दबिश देकर 6 नक्सलियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। नारायणपुर में पकड़ाया नक्सली दोगे पोयाम जनमिलिशिया कमांडर है, जिसे बंदूक समेत गिरफ्तार किया गया है, जबकि सुकमा में गिरफ्तार 5 नक्सलियों में दो स्थायी वारंटी हैं।
सुकमा एसपी अभिषेक मीणा के अनुसार कूकानार थाने से पुलिस का संयुक्त बल गश्त सर्चिंग के लिए रवाना किया गया था। ग्राम जोंगेरास और पेद्दापारा कुन्ना के निकट जंगल में कुछ संदेही किस्म के लोग पुलिस को देखकर भागने लगे, जिनका पीछा कर 5 नक्सलियों माड़वी जोगा (26) निवासी जोंगेरास जनमिलिशिया सदस्य स्थायी वारंटी और पोडिय़ामी देवा (26) जनमिलिशिया सदस्य स्थायी वारंटी को गिरफ्तार किया है। साथ ही कुमारी कवासी हुंगी (20) जनमिलिशिया सदस्य, पोडिय़ामी हुंगा (45) डीएकेएमएस सदस्य और कवासी दोक्का (40) डीएकेएमएस सदस्य सभी निवासी पेद्दापारा कुन्ना को दबोच लिया गया। एसपी ने बताया कि गिरफ्तार नक्सली हत्या, हत्या का प्रयास, आगजनी, अपहरण, लूटपाट, पुलिस पर फायरिंग, बारूदी विस्फोट और सड़क काटने जैसी संगीन वारदातों में शामिल रहे हैं।
नारायणपुर में हार्डकोर नक्सली गिरफ्तार :  एक अन्य कार्रवाई में नारायणपुर जिला पुलिस ने नक्सल विरोधी अभियान पर ग्राम आदेर के पास जंगल में सुरक्षा बलों को देखकर छिप रहे एक नक्सली दोगे पोयाम (38) निवासी मुरूमवाड़ा को घेराबंदी कर गिरफ्तार किया है। दोगे मुरूमवाड़ा का जनमिलिशिया कमांडर है, जिसकी निशानदेही पर आदेर जंगल से 1 नग भरमार बदूंक बरामद की गई है। नारायणपुर एसपी संतोष सिंह ने बताया कि गिरफ्तार नक्सली दोगे पोयाम पिछले 09-10 वर्षों से मुरूमवाड़ा मिलिशिया सदस्य के रूप में कार्य कर रहा था। वर्ष 2015 में नक्सली कमाण्डर अशोक की ओर से मुरूमवाड़ा मिलिशिया कमाण्डर बनाया गया। वर्ष 2017 में बड़े टोण्डाबेड़ा नाला के पास पुलिस पार्टी पर हमले की घटना शामिल रहा है। इसके अतिरिक्त गिरफ्तार नक्सली देशी जड़ी-बूटी से नक्सलियों का उपचार करना, नक्सलियों के मीटिंग के लिए ग्रामीणों को एकत्र करना, नक्सलियों को पुलिस के आने की सूचना देना, नक्सली संगठन का प्रचार-प्रसार करने का काम करता था।

error: Content is protected !!