चिरमिरी न्यायालय मे स्टांप पेपर और टिकट नोटरी बिक्री में किया जा रहा लूट-खसोट

०० 10 का स्टाम्प 20 मे, 50 का 70 मे हर टिकट और स्टाम्प पर 10 से 20 रुपये बढ़ा कर की जा आरही बिक्री  

कोरिया| जिले के चिरमिरी न्यायालय मे वकीलों ने लोगों से कमाई करने का अलग ही तरीका निकाला है ग्रामीण अंचलो के लोगों से स्टाम्प व टिकट नोटरी के नाम पर खुली लूट मचाई जा रही है|शासन-प्रशासन की लापरवाही की वजह से आमजनता से तय कीमत से अधिक राशि लेकर को स्टाम्प व टिकट नोटरी  किया जा रहा है|

चिरमिरी न्यायालय के स्टाम्प वेंडरो व वकील ये केवल चिरमिरी न्यायालय का ही नही लगभग सभी क्षेत्र के न्यायालयों का हाल है। फिर चाहे वो शहरी क्षेत्र क्यों न हो हर कोर्ट मे लूट मचा कर रखे है ये काले कोट वाले खास तौर पे नोटरी और स्टाम्प वेंडर मनचाही रकम लेकर बेच रहे है स्टांप पेपर और टिकट नोटरी वकील भी अपने हिसाब से ले रहे है। नोटरी के फीस किसी भी प्रकार की कोई रोक टोक नही है। यदि कोई व्यक्ति विरोध करता है तो उसे दो टूक कहा जा रहा है “लेना है तो लो वरना चलते बनो, हम तो अपने हिसाब से ही पैसे लेंगे”| 10 का स्टाम्प 20 मे 50 का 70 मे हर टिकट और स्टाम्प पर 10 से 20 रुपये बढ़ा कर बेच रहे है। लोगों की मजबूरी है कि इनके मनमानीयों का जवाब भी नही दे सकते मजबूरन वकीलों के मनमानी सहनी पड़ती है। क्या इन नोटरी और स्टाम्प वेंडरों के फीस का कोई मापदंड नही है? क्या इन्हें यूँही मनमानी करने की छूट है? शासन-प्रशासन की लापरवाही की वजह से आमजनता के साथ खुलेआम लूट मचाई जा रही है जिसे रोक पाने में प्रशासन असफल नजर आ रहा है|

 

error: Content is protected !!