कलेक्टर ने की मुख्यमंत्री जनदर्शन एवं राजस्व प्रकरणों की समीक्षा

मुंगेली- कलेक्टर एनएन एक्का ने आज कलेक्टोरेट स्थित मनियारी सभाकक्ष में राजस्व अधिकारियों और जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों की बैठक लेकर विभागीय कामकाज की समीक्षा की। उन्होने कहा कि राजस्व प्रकरणों के निपटारे में प्रगति लाये। समय सीमा की बैठक में मुख्यमंत्री जनदर्शन, उच्च न्यायालय से प्राप्त लंबित आवेदनों, आयुक्त कार्यालय से प्राप्त आवेदन पत्र, कलेक्टर जनदर्शन, शासकीय विभागों से प्राप्त आवेदन पत्रों, पीजी पोर्टल, जनशिकायत प्रकोष्ठ से प्राप्त आवेदन पत्रों आदि की समीक्षा की। उन्होने जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों से कहा कि योजनाबद्ध तरीके से क्रियान्वयन करना सुनिश्चित करें। किसानों के रूचि के अनुरूप पशु शेड निर्माण, वर्मी खाद निर्माण कार्य करें। इसके लिए ग्राम पंचायतों के सचिवों और पशुपालन विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों की बैठक लें।
कलेक्टर श्री एक्का ने एसडीएम और तहसीलदारों से कहा कि अतिक्रमण का प्रकरण दर्ज करना सुनिश्चित करें। नजूल डायव्हर्सन के बकाया वसूली और खसरा एवं बी-1 का आधार सीडिंग कार्य हेतु तीनों विकासखण्डों के राजस्व निरीक्षकों को सख्त निर्देश दिए। उन्होने शिकायत आवेदन पत्रों की जांच कर प्रतिवेदन प्रस्तुत करने हेतु राजस्व अधिकारियों और जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को निर्देश दिए। जनदर्शन कार्यक्रम और आयुक्त कार्यालय से प्राप्त आवेदन पत्रों, सीमांकन, शौचालय निर्माण की मजदूरी भुगतान, स्टाप डेम निर्माण, राजीव गांधी सेवा केंद्र का अधूरे निर्माण कार्य के संबंध में आवश्यक कार्यवाही हेतु निर्देश दिए गए। उन्होने राजस्व अधिकारियों और जनपद पंचायत के सीईओ को निर्देशित किया कि लंबित आवेदन पत्रों को समय सीमा के भीतर निपटारा करना सुनिश्चित करें।
बैठक में अपर कलेक्टर शरीफ मोहम्मद, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी लोकेश चंद्राकर, एसडीएम मुंगेली सुमित अग्रवाल, एसडीएम पथरिया केएल सोरी, डिप्टी कलेक्टर पीआर निर्मल सहित तहसीलदार एवं जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी उपस्थित थे।

error: Content is protected !!