बस्तर ही नहीं बल्कि पूरा छत्तीसगढ़ फतह करने के इरादे से विधानसभा चुनाव में उतरेगी कांग्रेस : पुनिया

०० छत्तीसगढ़ प्रभारी पी.एल. पुनिया आज प्रेस से मिलिए कार्यक्रम में पत्रकारों से हुए रूबरू

रायपुर। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के छत्तीसगढ़ प्रभारी और राज्यसभा सदस्य पी.एल. पुनिया ने प्रेस से मिलिए कार्यक्रम में कहा कि छत्तीसगढ़ में जहां भारतीय जनता पार्टी अपने अगले पड़ाव में आगे बढऩा चाहती है तो वहीं कांग्रेस अपना हक चाहती है। कांग्रेस पार्टी जीत को अपना हक समझती है। इसी सामूहिक एकता के साथ कांग्रेस चुनावी मैदान पर उतरेगी। कांग्रेस बस्तर में बिस्तर नहीं अर्थात् केवल बस्तर ही नहीं बल्कि पूरे छत्तीसगढ़ में फतह करने के इरादे से 2018 के विधानसभा चुनाव में उतरेगी। छत्तीसगढ़ कांग्रेस में अब न मनभेद है और न ही मतभेद, पूरी ताकत से कांग्रेस की तरफ से चुनाव का बिगुल फूंका जाएगा।
उन्होंने आगे कहा कि, छत्तीसगढ़ के चुनावी गढ़ कहे जाने वाले आदिवासी बाहुल्य बस्तर में बिस्तर नहीं, छत्तीसगढ़ में पूरा महल बनाने का लक्ष्य लेकर कांग्रेस काम कर रही है। वहीं कांग्रेस ने बस्तर सहित छत्तीसगढ़ के अन्य आदिवासी क्षेत्रों के लिए हमेशा से किया है। उन्होंने यह भी कहा कि, यदि कांग्रेस पार्टी छत्तीसगढ़ में चुनाव जीतती है तो यहां पूर्ण शराब बंदी लागू की जाएगी। यह कांग्रेस के इतिहास जैसे कि, आदिवासियों के अधिकार, मनरेगा में अधिकार, शिक्षा, चिकित्सा आदि शामिल हैं। देश की भूतपूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और गांधी परिवार का आदिवासियों से गहरा नाता है। आज भी आदिवासी प्यार और सम्मान के साथ उन्हें स्मरण करते हैं। उन्होंने कहा कि, कांग्रेस छत्तीसगढ़ में तमाम मुद्दे अपनी जिम्मेदारी और दमखम के साथ उठाती है। विपक्ष के दवाब के कारण ही सरकार ने किसानों को बोनस देने का निर्णय लिया। कांग्रेस का लक्ष्य केवल मुद्दों की राजनीति ही नहीं उन्हें अंजाम तक पहुंचाना है। अभी और भी भाजपा के चुनावी जुमलो और किसानों के हक को पूरा कराना है। चाहे वह 21 सौ रुपए समर्थन मुल्य देने की बात हो या एक-एक दाना अनाज खरीदने की बात हो। उन्होंने कहा कि, आज हिन्दूस्तान में सबसे ज्यादा आरोप और भ्रष्टाचार है तो वो छत्तीसगढ़ में है। यह काफी गंभीर मामला है और लोग खिल्ली उड़ा रहे हैं। ऐसा भ्रष्टाचार कहीं और देखने को नहीं मिलेगा। 
पत्रकारों की हत्या चिंताजनक : गौरी लंकेश की हत्या पर उन्होंने कहा कि, आज स्थिति बड़ी चिंताजनक हो गई है, पहले ऐसी नहीं थी। गौरी लंकेश की हत्या दु:खद घटना थी। एक पत्रकार चिंतन,मनन, मंथन कर अपनी कलम उठाता है, लेकिन केन्द्र के भाजपा शासन में अब तो कोई बोल और लिख नहीं सकता है। छत्तीसगढ़ में भी चार घटनाएं संज्ञान में आई हैं। उन्होंने बीजेपी और आरएसएस के लोगों पर आरोप लगाएं है कि, हर बार किसी घटना के बाद जो नाम सामने आते हैं वो इनमें से कोई रहता है।

अजीत जोगी को मौका देकर खाया धोखा :- उन्होंने छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी से जुड़े सवाल के जवाब में कहा कि, छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने विद्याचरण शुक्ल जैसे नेता को नजर अंदाज कर एक आदिवासी को मौका दिया था, लेकिन आदिवासी समझकर दिया गया मौका छलावा निकला। जोगी आज अपने जाति मामले में लगभग घिर चुके हैं। कांग्रेस अब धोखा नहीं खाने वाली है। 2018 के चुनाव में युवा, महिला, कर्तव्यनिष्ठ नेता अर्थात हर वर्ग को ध्यान में रखकर टिकिट दिए जाएंगे। 
प्रेस क्लब में हुआ पुनिया का स्वागत :प्रेस में मिलिए कार्यक्रम में पहुंचे पी.एस पुनिया का प्रेस क्लब अध्यक्ष के.के. शर्मा सहित सभी पदाधिकारियों और वरिष्ठ पत्रकारों ने स्वागत किया। कार्यक्रम के अंत में उन्हें रायपुर प्रेस क्लब की परंपरा के अनुसार स्मृति चिन्ह भेंट किया गया। इस मौके पर पुनिया के साथ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल सहित वरिष्ठ नेता और पीसीसी मीडिया विभाग के अध्यक्ष ज्ञानेश शर्मा, शहर अध्यक्ष विकास उपाध्याय सहित पत्रकार मौजूद थे। पुनिया ने कहा कि, रायपुर प्रेस क्लब की यह अच्छी परंपरा है। छत्तीसगढ़ में रायपुर का अपना महत्व है। एआईसीसी से जिम्मेदारी मिलने से पूर्व भी यहां आया हूं।

error: Content is protected !!