मस्तुरी पुलिस की लापरवाही से महिला को जान देकर चुकानी पड़ी शिकायत करने की कीमत

०० आरोपी के खिलाफ छेड़खानी की शिकायत के बाद भी मस्तुरी पुलिस ने गिरफ्तारी में बरती लापरवाही  

बिलासपुर/मस्तूरी| मस्तूरी थाना पुलिस की गंभीरता को लेकर अक्सर सवाल खड़े हुए है चाहे वह ममता खांडेकर हत्याकांड की बात हो या क्षेत्र में अवैध शराब की बिक्री,जुआ,सट्टा की बात हो सभी मामले में मस्तुरी पुलिस निक्कमी साबित हुए है आज भी पुलिस की लापरवाही के चलते एक महिला को अपनी जान से हाथ धोना पद गया अगर वक्त रहते पुलिस चौकन्नी हो जाती तो महिला की जान बंच सकती थी ग्राम किसान परसदा में घर घुसकर एक महिला से आरोपी ने छेड़खानी की थी आरोपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार नहीं किया। एफआईआर से गुस्साए आरोपी ने दूसरे दिन शनिवार को महिला की सास पर रॉड से ताबड़तोड़ हमला कर मौत के घाट उतार दिया आरोपी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर पुलिस उसकी तलाश कर रही है।

जानकारी के अनुसार ग्राम किसान परसदा निवासी बहुरा बाई पति स्व. गोविंद रात्रे (45) मजूदर थी। उसका बड़ा बेटा ओमप्रकाश बिलासपुर स्थित एक हॉटल में रहकर नौकरी करता है। छोटा बेटा ग्राम भिलाई स्थित स्कूल में पढ़ता है। शुक्रवार सुबह करीब 10 बजे बहुरा बाई उपचार कराने अस्पताल गई थी। उसने रिश्ते के भतीजे लक्ष्मी भास्कर पिता हीरालाल को घर में बहु के अकेली होने की बात कहते हुए देखरेख करने की जिम्मेदारी सौंपी थी। लक्ष्मी भास्कर ने बहुरा की बहु को घर में अकेली पाकर उसके साथ छेड़खानी की थी। शोर मचाने पर वह भाग गया था। दोपहर करीब 1 बजे बहुरा बाई वापस घर पहुंची तो बहु ने उसे घटना की जानकारी दी। वह बहु के साथ लक्ष्मी के घर गई और उनके परिजनों से विवाद किया था।इसके बाद बहुरा बहु के साथ थाना पहुंची और शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ भादवि की धारा 452, 354 के तहत अपराध दर्ज कर किया था।

रास्ता रोककर किया रॉड से हमला :- शनिवार सुबह करीब 7 बजे बहुरा बाई पानी भरने गई थी। आरोपी ने उसका रास्ता रोक लिया और एफआईआर दर्ज कराने की बात पर विवाद करने लगा। लक्ष्मी ने उसे जेल भेजवाने की बात कही तो उसे गुस्सा आ गया। उसने पास रखे लोहे के रॉड से उसके सिर पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया। हमले में जमीन पर गिरने के बाद उसने बहुरा बाई के मुंह में रॉड घुसाकर घुसा दिया जिससे उसकी जीभ कट गई और दांत टूट गए। घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी फरार हो गया। बहुरा बाई के भाई छहुरा भास्कर पिता गेंदराम ने संजीवनी 108 को बुलवाकर उसे सिम्स भेजा, जहां कुछ देर के बाद उसकी मौत हो गई।

पुलिस ने बरती लापरवाही जिससे गयी महिला की जान :- मस्तूरी पुलिस नेशनल लोक अदालत के लिए जारी समंस को तामिल करने में व्यस्त थी पुलिस ने शिकायत पर आरोपी के खिलाफ अपराध दर्ज करने के बाद आरोपी के संबंध में ग्रामीणों से फोन पर पूछताछ की। ग्रामीणो ने बताया कि आरोपी फरार हो गया है। पुलिस शाम करीब 5 बजे गांव पहुंची और आरोपी के संबंध में पूछताछ करने के बाद लौट आई। इसके बाद मस्तूरी पुलिस ने आरोपी को पकडऩे का प्रयास नहीं किया। शनिवार सुबह आरोपी ने बहुरा बाई से एफआईआर दर्ज कराने का बदला लेने के लिए उसे मौत के घाट उतार दिया।

हत्या के बाद जागी पुलिस:– मस्तूरी पुलिस ने छेड़खानी के आरोपी को पकडऩे में शुक्रवार को सतर्क नहीं थी। पुलिस मामले को साधारण घटना मानकार ठंडे बस्ते में डाल दिया था। शनिवार को आरोपी द्वारा बहुरा बाई की हत्या करने की खबर से पुलिस सकते में आ गई। आनन फानन में पुलिस ग्राम किसान परसदा पहुंचकर आरोपी की तलाश शुरू की। वहीं घटना के बाद छुट्टी पर चल रहे मस्तूरी टीआई एलसी मोहले आनन-फानन में सिम्स पहुंचे।

 

error: Content is protected !!