कांग्रेस अब केवल इतिहास में, इसलिए पुनिया की इतिहास में रूचि: धरमजीत सिंह

०० छत्तीसगढ़ में कांग्रेस का “मुंगेरीलाल” तक बाहरी

रायपुर|  छत्तीसगढ़ कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया द्वारा जकांछ (जे) सुप्रीमो अजीत जोगी जी पर बेतुकी टिप्पणी कर उन्हें ‘जयचंद’ कहे जाने पर प्रतिक्रिया देते हुए पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं वरिष्ठ नेता श्री धरमजीत सिंह ने आज कहा कि जब स्वयं कांग्रेस पार्टी ही इतिहास के पन्नों में समा चुकी है तो पुनिया तो इतिहास के पन्ने पलटेंगे ही। जोगी जी के कांग्रेस छोड़ने के बाद छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सभी निकाय और पंचायत चुनाव बुरी तरह हारी है। स्वयं कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अपने गृह क्षेत्र में पार्टी को नहीं जीता पाए। ऐसी पार्टी का सरकार बनाना तो दूर सोचना भी हास्यापद है। धरमजीत सिंह ने कहा कि एक कमरे में जब चार लोग बैठ कर सरकार बनाने का सपना देखते हैं तो उसे कांग्रेस कहते हैं। छत्तीसगढ़ में हाल इतना बुरा है कि सरकार बनाने का सपना देखने के लिए भी पुनिया के रूप में “मुंगेरीलाल” को बाहर से यानि आउटसोर्सिंग करके बुलाना पड़ता है। पुनिया जी वो मुंगेरीलाल हैं जिन्होंने उत्तर प्रदेश और दुसरे राज्यों में जाकर ऐसे ही सपने दिखाए और सभी जगह कांग्रेस पार्टी को डुबाया। पुनिया स्वयं दल बदल कर कांग्रेस में आये हैं तो क्या वो स्वयं जयचंद हैं ? मेरी पुनिया जी को यही सलाह है कि सपने देखें, उसमे कोई बुराई नहीं है लेकिन इतिहास से निकलकर वास्तविकता को भी देखें और फिर बयानबाजी करें। जोगी जी का नाम लेकर और उनके खिलाफ बेबुनियाद बयानबाजी करके कांग्रेस ज्यादा दिन खबरों में नहीं बनी रह सकती ।

error: Content is protected !!