आईएफएस अफसर कौशलेंद्र के खिलाफ ईओडब्ल्यू ने किया केस दर्ज

०० नागरिक आपूर्ति निगम में प्रबंध सचालक रहने के दौरान नियम ताक पर रख की थी भर्ती

रायपुर| नागरिक आपूर्ति निगम में प्रबंध सचालक रहने के दौरान सहायक प्रबंधकों की सीधी भर्ती में की गई अनियमितता पर ईओडब्ल्यू ने आईएफएस अधिकारी कौशलेंद्र सिंह के खिलाफ मामला दर्ज किया है। ईओडब्ल्यू ने बुधवार को यह कार्रवाई की। बता दें कि सहायक प्रबंधकों का पद पदोन्नति का पद था, लेकिन नियम कायदों को ताक पर रखकर सीधी नियुक्ति की गई थी।

जानकारी के मुताबिक वर्ष 2012 में नागरिक आपूर्ति निगम में सहायक प्रबंधकों के 12 पदों के लिए सीधी भर्ती किए जाने संबंधी विज्ञापन जारी किया गया था। उस वक्त भी इस पूरे मामले की शिकायत शासन स्तर पर की गई थी इसके बावजूद इसके भर्ती कर दी गई। बाद में हुई जांच के बाद साल 2014 में सहायक प्रबंधकों की नियुक्तियों को अवैध मानते हुए इसे निरस्त कर दिया गया। साथ ही नियम को ताक पर की गई भर्ती में दोषी मानते हुए एमएल प्रसाद और केएस श्रेय के खिलाफ कार्रवाई की गई, लेकिन सिंह के खिलाफ ये कहते हुए कार्रवाई नहीं की गई थी कि वह प्रतिनियुक्ति पर हैं। उन पर कार्रवाई नहीं होने को लेकर कोर्ट में याचिका दायर की गई थी। इस याचिका पर फैसला देते हुए कोर्ट ने सिंह के खिलाफ मामला कायम करने का निर्देश जारी किया था। कोर्ट के आदेश के बाद ईओडब्ल्यू ने आज मामला पंजीबद्ध कर लिया है।

आईएएस अफसर ने विदेश यात्रा में खाया 24 लाख का खाना,अब देना होगा जुर्माना:- आईएएस एमके राउत और पीडब्लूडी के सेवानिवृत ईएनसी पीके जनवदे को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी)ने विदेश यात्रा के दौरान किए गए खर्च 24 लाख रुपए को जुर्माना समेत जमा करने कहा है। ईडी ने इस मामले में दोनो अफसरों को वसूली का नोटिस जारी किया है। सरकारी खजाने की राशि खर्च करने की शिकायत पर ईडी ने नोटिस जारी कर अफसरों से जवाब मांगा था। इस मामले में एक निजी ट्रेवल्स संचालक से भी जवाब मांगा गया है। लेकिन, उन्होंने गोलमोल जवाब दिया था। ईडी के नोटिस पर दोनों ही अफसरों ने पूछताछ के दौरान अपनी सफाई में विरोधाभाषी बयान दिए थे। इसके बाद दस्तावेजों को जब्त कर छानबीन की जा रही थी। गौरतलब है कि पद का दुरुपयोग करने और विदेश यात्रा के दौरान बिल का भुगतान डालर में करने पर विधानसभा में भी मुद्दा उठा था।

error: Content is protected !!