कोटा सहित जिले में जगह-जगह विराजे गणपति महाराज

कोटा| कोटा क्षेत्र में कई जगह भगवान गणेश की प्रतिमा स्थापित किया गया देखा जाए तो शहर गांव पूरे देश में एक ही दिन गणेश भगवान की मूर्ति स्थापित किया जाता है जो कि भक्तगण हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी बड़े उत्साह के साथ गणेश भगवान की पूजा अर्चना के साथ स्थापित करते हैं भगवान गणेश की पंडालों में सुबह और शाम दर्शन व आरती के लिए भक्तों की भीड़ उमड़ जाती है कई स्थानों और पंडालों में आरती के साथ साथ ही संस्कृतिक कार्यक्रम की संगीत का आयोजन रखते हैं गणपति भगवान करो जाना विशेष श्रृंगार किया जाता है भगवान गणेश आस्था का स्वरुप है कोई भी वस्तु अच्छी शुभारंभ किया जाता है तो भगवान श्री गणेश की नाम को ही सबसे पहले लिया जाता है गणपति विघ्न हरता है दुखों को हरने वाले भगवान गणेश जी की आरती भजन कीर्तन पंडालों में भक्तों की कतार लगी रहती है जो कि बाजे गाजे के साथ भगवान गणेश प्रतिमा के सुंदर-सुंदर आकृतियों को देखने भक्तगण पहुंचते हैं इन समितियों के द्वारा भोजन का भंडारा रखा गया था जो इस प्रकार है मां चंडी गणेश उत्सव समिति कोटा दक्षिण पंचमुखी गणेश समिति कोटा जिसमें प्रमुख रुप से अपना योगदान दिया है आनंद महाराज नवीन तिवारी विशेष गुप्ता सूरज गुप्ता केतन जायसवाल प्रतिक अग्रहरि पंकज अग्रहरि प्रखर अग्रहरि आदि लोग इस गणेश उत्सव समिति का अपना योगदान दिया

 

error: Content is protected !!