बाल अपराधों की रोकथाम के लिए दो दिवसीय कार्यशाला सम्पन्न

रायपुर| छत्तीसगढ़ पुलिस अकादमी चंदखुरी में बाल अपराधों की रोकथाम के लिए पुलिस विभाग, यूनिसेफ और महिला बाल विकास विभाग के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित दो दिवसीय कार्यशाला कल सम्पन्न हुई। कार्यशाला के समापन अवसर पर राज्य के पुलिस महानिदेशक श्री ए.एन. उपाध्याय ने अपने सम्बोधन में कहा कि बच्चों को पर्याप्त ज्ञान देकर और उनके पालकों तथा विद्यालयों के शिक्षकों के बीच जागरूकता लाकर ही बाल अपराधों की रोकथाम की जा सकती है। उन्होंने आशा व्यक्ति की कि इस कार्यशाला में प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले राज्य के नौ जिलों आए पुलिस अधिकारी अपने-अपने क्षेत्रों में जाकर विद्यालयों के शिक्षकों तथा बच्चों और उनके पालकों के बीच जागरूकता लाने के लिए उन्हें प्रशिक्षित करेंगे।
इस कार्यशाला में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्री आर.के विज ने बाल अपराधों की रोकथाम के लिए कानूनी प्रावधानों के बारे में पुलिस अधिकारियों को विस्तार से बताया। इस कार्यशाला में पुलिस महानिरीक्षक अपराध अनुसंधान ब्यूरो श्री एच.के. राठौर, रेल पुलिस अधीक्षक श्रीमती पारूल माथुर, पुलिस अकादमी चंदखुरी के पुलिस अधिक श्री सदानंद कुमार, पुलिस मुख्यालय के सहायक पुलिस महानिरीक्षक श्रीमती मनीषा ठाकुर रावटे, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षवक श्रीमती पूजा अग्रवाल सहित पुलिस अकादमी चंदखुरी के सभी पुलिस अधिकारी उपस्थित थे।

 

error: Content is protected !!