प्रभारी मंत्री ने सभी लोगों को नये भारत का संकल्प दिलाया

मुंगेली- नये भारत के निर्माण 2022 तक के यात्रा में किसान भागीदार बनें। छत्तीसगढ़ का किसान अन्नदाता है जब समाज खड़ा होगा तब देश आगे बढ़ेगा। देश की आजादी के बाद नरेंद्र मोदी पहले प्रधानमंत्री है जिन्होने दुनिया को भारत की ताकत से अवगत कराया है। उक्ताशय के उद्गार पंचायत एवं ग्रामीण विकास एवं जिले के प्रभारी मंत्री अजय चंद्राकर ने आज कृषि विज्ञान केंद्र द्वारा कृषि अभियांत्रिकी महाविद्यालय परिसर में आयोजित संकल्प से सिद्धि, न्यू इंडिया मंथन एवं किसान सम्मेलन में व्यक्त किये। उन्होने कहा कि भारत फिर से सोने की चिड़िया कहलाने में समर्थ है। पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री ने लोगों को गरीबी मुक्त, भ्रष्टाचार मुक्त एवं आतंकवाद मुक्त भारत बनाने का संकल्प दिलाया।
प्रभारी मंत्री श्री चंद्राकर ने कहा कि छत्तीसगढ़ शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर ऋण दिलाने वाला, खाद्य सुरक्षा अधिनियम लागू करने वाला पहला राज्य है। उन्होने कहा कि पहले किसानों को 13 प्रतिशत ब्याज दर पर ऋण प्राप्त होता था। अब बिना ब्याज के बैंको से ऋण प्राप्त हो रहा है। छत्तीसगढ़ सरकार ने विगत 13 वर्षो में 4 लाख 17 हजार किसानों को सिंचाई पम्प की सुविधा उपलब्ध कराई है तथा अनुसूचित जाति एवं जनजाति के कृषकों के पम्पों को ऊर्जीकरण करने का कार्य कराया गया है। उन्होने कहा कि राज्य बनने के पश्चात श्वेत क्रांति की शुरूआत हुई। अब 1 लाख से अधिक दुग्ध का उत्पादन किया जा रहा है। नीली क्रांति की शुरूआत भी छत्तीसगढ़ से होगी। श्री चंद्राकर ने कहा कि 13 साल पहले छत्तीसगढ़ को पलायन करने वाले और भूखमरी के लिए जाना जाता था। मुख्यमंत्री खाद्यान्न सुरक्षा योजना से प्रदेश के गरीबों को खाद्य समस्या से निजात मिली है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की सरकार ने दूरस्थ वनांचलों में रेल पटरी बिछाकर विकास से वंचित क्षेत्रों को विकास की मुख्य धारा से जोड़ा है। आने वाले समय में छत्तीसगढ़ प्रदेश अपनी नई ताकत के साथ नये भारत के निर्माण में अहम भूमिका निभायेंगी।
कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए खाद्यमंत्री पुन्नूलाल मोहले ने किसानों को आह्वान करते हुए कहा कि 2022 तक कृषि आय दोगुना करने का संकल्प लें तथा नये भारत के निर्माण में अपना सहयोग दें। उन्होने कहा कि 1942 में स्वतंत्रता सेनानियों ने एक संकल्प लिया था भारत छोड़ों का और 1947 में वह महान संकल्प सिद्ध हुआ। उन्होने लोगों को सौर सुजला योजना, शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर कृषि ऋण, उज्ज्वला योजना आदि की जानकारी दी तथा किसानों से कहा कि मिट्टी का परीक्षण अवश्य करायें ताकि धान का उत्पादन अधिक से अधिक हो सकें। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत हितग्राहियों को 1 लाख 47 हजार रूपये उपलब्ध कराया जा रहा है। बिलासपुर लोकसभा क्षेत्र के सांसद श्री लखनलाल साहू ने संबोधित करते हुए कहा कि गांधी जी ने 1942 में भारत छोड़ों, करो या मरो का आंदोलन चलाया। भारत छोड़ों आंदोलन की 75वीं वर्ष गांठ मना रहे है। उन्होने कहा कि विश्व का नेतृत्व करने के लिए भारत आगे बढ़ रहा है। उन्होने कहा कि वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने हेतु 7 सूत्रीय कार्यक्रम बनाया गया है। इससे उत्पादन में वृद्धि करना, उपज के बाद नुकसान कम करना, गुणवत्ता में वृद्धि एवं जोखिम में कमी शामिल है। उन्होने कहा कि कम पानी में फसल उत्पादन अधिक हो ऐसा प्रयास किया जा रहा है। संसदीय सचिव तोखन साहू ने कहा कि संकल्प से सिद्धि 2017-2022 तक नये भारत के निर्माण हेतु मंथन करने उपस्थित हुए है। उन्होने लोगों से कहा कि स्वतंत्रता संग्राम सेनानियां के सपनों का नया भारत बनाने के लिए संकल्प लें तथा माटी की सेहत के लिए जैविक खेती अपनाएं। उन्होने कहा कि कृषकों को उच्च पैदावार के बीज एवं नई तकनीक अपनाने की आवश्यकता है ताकि कृषि आय दोगुना हो सके।

error: Content is protected !!