हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद का जीवन प्रेरणादायक: डॉ. रमन सिंह

०० मुख्यमंत्री ने जनता को दी राष्ट्रीय खेल दिवस की बधाई

रायपुर| छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कल 29 अगस्त को राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर जनता को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी है। डॉ. सिंह ने आज यहां जारी बधाई संदेश में कहा है कि हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद की जयंती पूरे देश में राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनायी जाती है। मेजर ध्यानचंद का खेल जीवन हमारे देश की नई पीढ़ी के लिए प्रेरणादायक है। डॉ. सिंह ने मेजर ध्यानचंद को खेल-जगत के लिए एक ऐसा रोल मॉडल बताया, जिनकी जीवन गाथा से वर्तमान और भावी पीढ़ियां हमेशा प्रेरणा लेती रहेंगी। मुख्यमंत्री ने कहा -पदमभूषण अलंकरण से सम्मानित मेजर ध्यानचंद ने अपनी विलक्षण खेल प्रतिभा से हॉकी के खेल को भारत सहित सम्पूर्ण विश्व में लोकप्रिय बनाया। उन्होंने 1928 में एम्सटर्डम ओलम्पिक, 1932 में लॉस एंजल्स ओलम्पिक और 1936 में बर्लिंग के ओलम्पिक खेलों में भारतीय हॉकी टीम का नेतृत्व करते हुए देश को तीन बार स्वर्ण पदक दिलाया। हॉकी के मैदान में उनके हाथों का हुनर देखकर लोगों ने उन्हें ‘हॉकी के जादूगर’ कहकर हमेशा अपना सम्मान दिया। उल्लेखनीय है कि मेजर ध्यानचंद का जन्म 29 अगस्त 1905 को इलाहाबाद में और निधन 3 दिसम्बर 1979 को नई दिल्ली मेें हुआ। उन्हें भारत सरकार ने 1956 में पद्मभूषण अलंकरण से सम्मानित किया।

 

error: Content is protected !!