कपड़ा व्यापारी को नकली सोना देकर 16 लाख की ठगी करने वाले आरोपी गिरफ्तार 

०० ठगी के आरोपियों को मध्यप्रदेश के उज्जैन जिले के जावरा से किया गिरफ्तार

रायपुर। राजनांदगांव के कपड़ा व्यापारी ललित मेश्राम से चार किलो नकली सोने के बदले 16 लाख रुपए की ठगी करने वाले अंतर्राज्यीय गिरोह के 3 सदस्यों को पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार किया है। आरोपियों को मध्यप्रदेश के उज्जैन जिले के जावरा से गिरफ्तार किया गया है।
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर विजय अग्रवाल ने आज मामले का खुलासा करते हुए बताया कि चार किलो नकली सोने के बदले 16 लाख रुपए की ठगी करने वाले अंतर्राज्यीय गिरोह के तीनों आरोपियों सेवाराम सोलंकी (40) निवासी जालौन राजस्थान वर्तमान में चरौदा भिलाई, मोहन राठौर (38) निवासी सिरोही राजस्थान वर्तमान भिलाई 3 और पवन राठौड़ (38) निवासी सिरोही वर्तमान कुम्हारी जिला दुर्ग को उज्जैन मध्यप्रदेश के जावरा से गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों के पास से 16 लाख रुपयों में से 9 लाख 80 हजार रुपए जब्त किए गए हैं आरोपियों ने चरौदा और देवबलौदा में मकान खरीद रखे थे जिनका इस्तमाल वारदात के बाद छिपने के लिए करते थे। गौरतलब है कि 7 अगस्त को राजनांदगांव के कपड़ा व्यापारी ललित मेश्राम की दुकान पर तीनों आरोपी पहुंचे थे। आरोपियों ने ललित को झांसे में लिया कि रोड मरम्मत में खुदाई के दौरान उन्हें 4 किलो सोने की माला मिली है जिसे वे बेचना चाहते हैं। आरोपियों ने ललित को एक माला सैंपल के तौर पर दी जिसमें सोने के टुकड़े थे। ललित ने ज्वेलर्स भुपेश जैन (31) से सोने की शुद्धता की जांच कराई और संतुष्ट होकर दोनों व्यापारियों ने 25 लाख रुपयों में सौदा तय किया। 17 अगस्त को 16 लाख रुपयों के साथ ललित ने आरोपियों से रायपुर में टाटीबंद में सौदा किया। ललित ने बाकी चैन की भी ज्वेलर्स से जांच कराई तो नकली निकली। इसके बाद भूपेश ने मामले की शिकायत रायपुर के आमानाका थाना में की थी| मामले की गंभीरता को देखते हुए रायपुर पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम को कार्य पर लगाया गया। टीम ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपियों को हुलिया पहचाना और उनके आने जाने वाले रास्तों पर खोज शुरु की। जानकारी मिलने पर टीम उज्जैन के जवारा पहुंची और वहां से आरोपियों को गिरफ्तार किया गया आरोपियों ने इसके पूर्व आन्ध्र प्रदेश, मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र में इस प्रकार की वारदात की है आरोपी सेवाराम और मोहन पर भिलाई 3 और थाना चरौदा में मारपीट के मामले भी दर्ज हैं।

error: Content is protected !!