विदेश दौरे पर नहीं जाएंगे छत्तीसगढ़ के विधायक 

०० कैबिनेट की बैठक में सीएम की फटकार से सहमें विधायकों ने रद्द किया विदेश दौरा

रायपु राज्य में किसानों पर पड़ी अकाल की मार, गायों की भूख से हुई मौत से मचे हाहाकार और कैबिनेट की बैठक में सीएम की फटकार से सहमें विधायकों ने रद्द किया विदेश का टूर । डॉ रमन सिंह की चेतावनी के आगे मजबूर हुए नेता अब मामले को दबाने के लिए इसपर भी तर्कों की चादर तानने में लगे हैं । किसी को किसानों पर अचानक दया आ रही है, तो किसी को उचित नहीं लग रहा है। ऐसे में सवाल तो यही है कि कल तक इनकी सारी माया कहां छिपी बैठी थी ?
दरअसल विधानसभा के नेता ब्रिटेन और आस्ट्रेलिया जाने वाले थे। उधर नईदिल्ली से आते ही कैबिनेट की बैठक में मुख्यमंत्री ने जमकर फ टकार लगा दी। उन्होंने दो टूक लहजे में कह दिया कि, तीन महीने में अगर नहीं सुधरे तो परिणाम अच्छा नहीं होगा। अब इतने के बाद भला कोई नौकरी बचाये या फिर विदेश दौरे पर जाए ? इसी को देखते हुए अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल ने विधायकों को विदेश प्रवास पर भेजना उचित नहीं समझा है। उन्होंने गुरुवार को उक्ताशय के निर्देश दिए हैं।
विधानसभा सचिव देवेन्द्र वर्मा ने बताया कि, विधानसभा के 15 से अधिक विधायकों का एक दल 13 सितंबर से 23 सितंबर तक ब्रिटेन और आस्ट्रेलिया के प्रवास पर जाने वाला था। ब्रिटेन तथा आस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त से अनुमति ले ली गई थी तथा भारत शासन की ओर से वीजा प्रदान कर दिया गया था। ब्रिटेन और आस्ट्रेलिया के दोनों सदनों को देखने की अनुमति प्राप्त हो गई थी। विधानसभा सचिवालय में सभी सत्तापक्ष व विपक्ष के 30 विधायकों के पासपोर्ट बनाने सहित अन्य औपचारिकताएं पूर्ण कर दी गई है। उन्होंने बताया कि, विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल के निर्देशानुसार यह निर्णय लिया गया है। इसलिए यह प्रवास स्थगित कर दिया गया है। राजिम क्षेत्र के विधायक संतोष उपाध्याय का कहना है कि, उन्हें विदेश जाने का निमंत्रण मिला था। परंतु घर में गमी होने के कारण उन्होंने विदेश नहीं जाने की अनिच्छा जाहिर कर दी थी। भाजपा के विधायक श्रीचंद सुंदरानी सहित अन्य सदस्य विदेश प्रवास पर जाने वाले थे। इस दौरे को लेकर पिछले कई दिनों से चर्चा जारी थी। नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने कहा कि, प्रदेश में सूखे की स्थिति बन रही है, इस बीच विधायकों का विदेश दौरा उचित नहीं होगा। वहीं कांग्रेस ने तय किया है कि, कांग्रेस की कोई भी विधायक विदेश दौरे पर नहीं जाएगा। महासमुंद क्षेत्र के निर्दलीय विधायक डॉ. विमल चोपड़ा ने कहा कि, प्रदेश में निर्मित सूखा की भयावह स्थिति और किसानों सहित, गौ माता पर हो रही क्रूरता को देखते हुए विदेश दौरे के लिए साफतौर पर मना कर दिया था। शुरू से अनावश्यक काम में ध्यान नहीं देता। जनता के पैसों का दुरपयोग होता है, जनप्रतिनिधियों को अनावश्यक कार्य से बचना चाहिए। घर के काम से प्रवास पर जाने के दौरान भी जनता के पैसों का दुरपयोग करने से बचना चाहिए। मरवाही से विधायक अमित जोगी ने कहा कि, जब में बढ़ा हुआ वेतन तक नहीं लेता तो विदेश दौरे पर जाने का सवाल ही नहीं उठता। प्रदेश में चारों तरफ उत्पन्न स्थिति को देखते हुए कैसे कोई विदेश दौरे की सोच भी सकता है। जोगी ने पहले से ही विधानसभा सचिवालय में कह दिया है कि,किसी भी अनावश्यक दौरे में जाने के लिए वे तैयार नहीं है। पहले प्रदेश की जनता को न्याय दिलाना है।

error: Content is protected !!