ऑक्सीजन नहीं मिलने से अंबेडकर अस्पताल में हुई 3 बच्चों की मौत

मुख्यमंत्री ने दिए मामले की जांच के आदेश, नशे में धुत्त मिला ऑक्सीजन आपूर्ति विभाग का ऑपरेटर

रायपुर। प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल डॉ भीमराव अंबेडकर स्मृति चिकित्सालय रायपुर में लापरवाही का एक और मामला प्रकाश में आया है। रविवार की शाम अस्पताल की ऑक्सीजन सप्लाई प्रभावित हुई थी, जिससे अस्पताल में भर्ती 3 बच्चों की मौत हो गई। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने बच्चों की मौत पर दु:ख व्यक्त किया है। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को मामले की जांच के आदेश दिए हैं। सीएम ने कहा है कि जिम्मेदारों को बख्शा नहीं जाएगा। ड्यूटी के दौरान ऑक्सीजन प्लांट का कर्मचारी शराब के नशे धुत्त मिला, उसने सीएमओ से विवाद भी किया। सीएमओ की शिकायत पर मौदहापारा थाना पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया है।
रविवार की शाम अंबेडकर अस्पताल में आक्सीजन की सप्लाई में प्रेशर कम होने लगा। प्रेशर कम होने से मरीजों को तकलीफ होने लगी तो वहां हड़कंप मच गया। मौजूद डॉक्टर और नर्स ने जानकारी सीएमओ को दी। मेकाहारा में आपात चिकित्सा विभाग सीएमओ डॉ. अनिल बघेल तत्काल अंबेडकर अस्पताल के ऑक्सीजन प्लांट पहुंचे। प्लांट में रवि चन्द्रा (30) निवासी रायपुरा की ड्यूटी थी। रवि प्लांट में शराब के नशे में बेसुध पड़ा था, जिससे अस्पताल में ऑक्सीजन सप्लाई का तकनीकी संचालन प्रभावित हुआ। इससे सप्लाई का प्रेशर कम होने लगा, जिसे दुरुस्त किया गया। रवि को उठाने की कोशिश की गई तो वह सीएमओ से विवाद करने लगा। इसके बाद सीएमओ ने मौदहापारा थाना पुलिस से संपर्क किया और थाने में आरोपी रवि के विरुद्ध शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने धारा 186 के तहत रवि को गिरफ्तार किया है। बताया गया है कि, अस्पताल के वार्ड में 30 से ज्यादा बच्चे भर्ती थे। 10 बच्चे वेंटिलेटर पर थे, जिसमें 3 गंभीर थे। स्वास्थ आयुक्त आर प्रसन्ना ने कहा कि, रविवार रात ऑक्सीजन सप्लाई में प्रेशर कम हुआ था, वह बंद नहीं हुई थी। तत्काल ऑक्सीजन सप्लाई ठीक की गई। मैकेनिक की लापरवाही से प्रेशर कम हुआ था। सीएमओ की शिकायत पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया है। बच्चों की मौत ऑक्सीजन की कमी से नहीं हुई है। वे पहले से गंभीर थे। अंबेडकर अस्पताल के अधीक्षक डॉ. विवेक चौधरी ने कहा कि तीनों बच्चों को बीमारी थी, ऑक्सीजन की कमी से मौत नहीं हुई है। मामले की जांच के बाद स्पष्ट हो पाएगा कि इसकी असलियत क्या है ?

error: Content is protected !!