गिरफ्तारी के डर से भागते हुए कोर्ट पहुंचे एसडीएम आलोक पांडे

बिलासपुर। राजस्व से जुड़े एक मामले में गिरफ्तारी की तलवार लटकने के बाद बिलासपुर एसडीएम आलोक पांडे शुक्रवार को सब काम छोड़कर जस्टिस प्रशांत मिश्रा के सामने पेश हुए और आय प्रमाण पत्र में विलंब के संबंध में अपनी दलील दी।

गौरतलब है कि जस्टिस प्रशांत मिश्रा ने बिलासपुर एसडीएम आलोक पांडेय को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश करने को आदेश दिया था। छत्तीसगढ़ के इतिहास में यह पहला मौका होगा जब किसी सरकारी अफसर को कोर्ट ने इस तरह से गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश करने का निर्देश जारी किया गया। मिली जानकारी के मुताबिक आलोक पांडेय के खिलाफ राजस्व से जुड़े एक मामले में याचिका दायर की गई थी।इस संबंध में हाईकोर्ट ने आलोक पांडे को दो बार कोर्ट में तलब कर पक्ष रखने को कहा था लेकिन दोनों बार एसडीएम कोर्ट में नहीं पहुंचे। इसके बाद एसडीएम की गैरमौजूदगी देखकर जस्टिस प्रशांत मिश्रा ने गिरफ्तारी वारेंट जारी कर दिया था।

 

 

error: Content is protected !!