कांग्रेस ने की बेरला में ग्रामीणों पर हुए लाठीचार्ज की न्यायिक जॉच की मांग 

०० थानेदार के संरक्षण में बेरला इलाके में हो रही है अवैध शराब की बिक्री*

०० पीड़ित महिला को पुलिस प्रशासन द्वारा दी जा रही धमकी, बचाया जा रहा मुख्य आरोपी को

०० पुलिस के हरकतों से बेरला क्षेत्र के ग्रामीणों में जबर्दस्त आक्रोश है 

रायपुर| दुर्ग जिले के बेरला में पुलिस की लाठीचार्ज में घायल हुये ग्रामीणों से मुलाकात करने आज छत्तीसगढ़ कांग्रेस से अग्रिम पंक्ति के नेतागण पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल, पूर्व अध्यक्ष एवं विधायक धनेन्द्र साहू, पूर्व नेता प्रतिपक्ष रविन्द्र चौबे, दुर्ग लोकसभा सांसद ताम्रध्वज साहू, राज्यसभा सदस्य छाया वर्मा, पूर्व मंत्री मो. अकबर, दुर्ग विधायक अरुण वोरा, पूर्व मंत्री अमितेष शुक्ल, प्रदेश उपाध्यक्ष बदरूद्दीन कुरैशी, पूर्व विधायक डाॅ. शिवकुमार डहरिया, मीडिया विभाग के अध्यक्ष ज्ञानेश शर्मा, किसान कांग्रेस अध्यक्ष चंद्रशेखर शुक्ला, पिछड़ा वर्ग विभाग के अध्यक्ष महेन्द्र चंद्राकर, भिलाई महापौर देवेन्द्र यादव, भजन सिंह निरंकारी, कार्यसमिति सदस्य प्रतिमा चंद्राकर, महिला कांग्रेस  अध्यक्ष फूलोदेवी नेताम,दुर्ग जिला अध्यक्ष हेमंत बंजारे विजय बघेल आर एन वर्मा  बृजमोहन सिंह सुरेन्द्र तिवारी डॉ प्रवीण वर्मा रितेश शर्मा दीनदयाल चंद्राकर कैलाश नाहटा जितेंद्र साहू सरोजनी, करीम मनोज रोशन प्रभाकर ,इरफान खान ,नवीन अनिल नवीन ताम्रकार राजेश शर्मा  ओनी महिलांग, कुम्हारी नगर पालिका अध्यक्ष स्वपनिल उपाध्याय,दुर्गजिले से  अब्दुल गनी दीपक दुबे पूर्व महापौर नीता लोधी, बुलाखी वर्मा ,नारायण साहू चेतन बंजारे ,टिकेंद्र परघनिया, मनोज जायसवाल ,संतोष वर्मा ,विजेंद्र वर्मा दिलीप जैन भोजेंद्र वर्मा पुरुषोत्तम चंद्राकर कांग्रेस के वरिष्ठ पदाधिकारियों सहित हजारों कार्यकर्ता बेरला पहुंचे और ग्रामीणों से मुलाकात करते हुये घटना की जानकारी ली।

चर्चा के दौरान उपस्थित क्षेत्र के लोगों ने बताया कि थाना प्रभारी के संरक्षण में बलात्कार कांड के प्रमुख अवैध शराब का कारोबार करता है। थानेदार  के सामने अभियुक्त द्वारा  पीड़ित महिला को 1 लाख लेकर मामले को रफा दफा करने का दबाव बनाया गया। अभियुक्त को पुलिस प्रशासन का सरंक्षण मिला हुआ है। बारगांव में महिला के साथ 5 लोगो द्वारा सामूहिक बलात्कार किया गया। उसको डराने के लिए महिला के सामने कुत्ते को काटकर कहा गया कि अगर मुंह खोली तो ऐसा ही तुम्हारा भी अंजाम होगा साथ ही इसके वीडियो ग्राफी भी की गई। गांव वालो द्वारा अभियुक्त को बचाने एवं संरक्षण देने के खिलाफ थाने का घेराव किया गया। पुलिस द्वारा गांव वालो को भगाने के लिये बेवजह लाठीचार्ज किया गया,फलस्वरूप गांव वालो द्वारा भी प्रतिकार किया गया। कांग्रेस नेताओ ने कहा कि पूरे मामले में पुलिस कि संलिप्तता सामने आई है ,जब पुलिस स्वयं पक्षकार है उसके कारण ही मामला बिगड़ा है ऐसे में पुलिस से किसी भी प्रकार की निष्पक्षता की अपेक्षा बेमानी है। अतः घटना की न्यायिक जाँच की जानी चाहिये। घटना का विरोध करने के कारण कांग्रेस के लोगो को चुन-चुनकर पुलिस कार्यवाही कर रही है। युवक कांग्रेस के जिलाध्यक्ष, ब्लाक अध्यक्ष सहित कांग्रेस नेताओं के ऊपर की गयी दुर्भावनापूर्वक कार्यवाही निरस्त कर निःशर्त रिहाई की जाये। कांग्रेस नेताओं ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक और एसडीएम से पुलिसिया आतंक रोकने और आस-पास के गांव में पुलिस के दादागिरी तत्काल बंद करने की मांग की गयी।निर्दोष लोगो को परेशान नहीं करने की चेतावनी दी गई। पूरी घटना में कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक की रवैये की निंदा की गई।

 

error: Content is protected !!