कलेक्टर की अध्यक्षता में जीवनदीप कार्यकारिणी समिति की बैठक सम्पन्न

मुंगेली- कलेक्टर एनएन एक्का की अध्यक्षता में आज शासकीय जिला चिकित्सालय के सभाकक्ष में जीवनदीप कार्यकारिणी समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में एजेण्डावार चर्चा की गई। बैठक में स्वास्थ्य सुविधाओं, राष्ट्रीय कार्यक्रमों की उपलब्धि एवं आय-व्यय की जानकारी दी गई। उन्होने सिविल सर्जन से कहा कि बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं के साथ आय बढ़ाने हर संभव प्रयास हो। कलेक्टर ने लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन अभियंता को जिला अस्पताल परिसर में नया बोर खनन हेतु निर्देश दिए। नगर पालिका के मुख्य नगर पालिका अधिकारी को अस्पताल से प्रतिदिन कचरा उठाने वाहन व्यवस्था एवं साफ-सफाई कराने निर्देश दिए। जिला चिकित्सालय में आपातकालीन प्रवेश द्वार के पास वाहन शेड निर्माण और ई-हॉस्पीटल संचालन हेतु डाटा एंट्री आपरेटर रखने, सुरक्षा गार्ड रखने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा अस्पताल सलाहकार एवं पोषण पुनर्वास केंद्र हेतु कर्मचारी की भर्ती के संबंध में चर्चा की गई। बैठक में सायकल का 2 रूपए, मोटर सायकल का 5 रूपए एवं कार का 10 रूपए स्टैण्ड किराया लेने का सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आरएल घृतलहरे ने बताया कि जुलाई 2017 तक 17502 बाह्य रोगियों का पंजीयन किया गया है। इसी तरह अप्रैल 2017 से जुलाई 2017 तक 348 संस्थागत प्रसव कराया गया है। जुलाई 2017 तक 47 बच्चों को पोषण केंद्र से लाभान्वित किया गया है। जीवनदीप समिति की बैठक में बताया गया कि समिति को 16 लाख 10 हजार 417 रूपए आय प्राप्त हुई है तथा विभिन्न मदों में 12 लाख 64 हजार 336 रूपए व्यय किया गया है। बैठक में बताया गया कि अप्रैल से जुलाई 2017 तक 74 बिच्छू काटने की उपचार की गई है। पीड़ित रोगियों की खंखार जांच की गई जिसमें 74 पॉजीटिव पाए गए। ओपीडी से 97 हजार, ओटी से 8930 रूपए, एक्सरे से 4178 रूपए, लेब से 10 हजार रूपए की आय प्राप्त हुई है।
बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी लोकेश चंद्राकर, सिविल सर्जन सह अस्पताल अधीक्षक आरके भुआर्य, जिला कार्यक्रम प्रबंधक उत्कर्ष तिवारी, खण्ड चिकित्सा अधिकारी डॉ. एमके राय, नेत्र विशेषज्ञ डॉ. मांझी सहित अन्य अधिकारी और जिला चिकित्सालय के स्टाफ उपस्थित थे।

error: Content is protected !!