प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कांग्रेस भवन में फहराया तिरंगा

०० प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने प्रदेश वासियो को दी गई स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाए एवं बधाई

रायपुर| प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर कांग्रेस भवन में तिरंगा फहराया| भूपेश बघेल ने इस अवसर पर पार्टी के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओ को संबोधित करते हुए कहा कि आजादी का यह पर्व, हमारा पुनीत पर्व है | राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की अगुवाई में कांग्रेस के सिपाहियों ने देश के हर कोने में आजादी की पुकार लगाई और एक ऐसा आंदोलन छेड़ा जिसकी कोई मिसाल नहीं मिलती| शांति और अहिंसा के इस आंदोलन में कौमी एकता के बिगुल बजाएं तथा स्वाधीनता राष्ट्र की उन्नति की नींव रखी |आज स्वाधीनता दिवस के पावन अवसर पर हम उन सभी स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को जिन्होंने अपने प्राणों की आहुति दे कर भारतवर्ष को स्वतंत्रता दिलाई ऐसे महान विभूतियों के प्रति हम श्रद्धा सुमन अर्पित करना चाहेंगे। सरदार भगत सिंह ,चंद्रशेखर आजाद, राजगुरु अशफाक उल्ला ही नहीं हमारे वीर आदिवासी शहीद वीर नारायण सिंह टाटिया भील तथा बिरसा मुंडा जैसे अनगिनत सपूतों के बलिदान को कभी बिसराया नहीं जा सकता।

राष्ट्र के तिरंगे की छत्रछाया में देश के लिए , देशवासियों के लिए जो सपने बुने तथा स्वाधीनता के महान संग्राम को जिन्होंने अपने त्याग और बलिदान की ज्योति से प्रकाशमान किया उनमें लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक, लाला लाजपत राय, गोपाल कृष्ण गोखले ,पंडित मोतीलाल नेहरु, नेताजी सुभाष चंद्र बोस, देशबंधु चितरंजन दास ,बाबू राजेंद्र प्रसाद, डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन ,पंडित जवाहरलाल नेहरू ,सरदार वल्लभभाई पटेल, डॉक्टर भीमराव अंबेडकर, सरोजिनी नायडू ,आचार्य कृपलानी ,मौलाना अब्दुल कलाम आजाद ,लाल बहादुर शास्त्री हमारी राष्ट्रीय एकता के प्रतीक बने ।श्रीमती इंदिरा गांधी एवं राजीव गांधी के कुशल नेतृत्व में स्वाधीनता के पश्चात देश निरंतर आगे बढ़ा। ऐसे महान विभूतियों को आज के इस पावन पर्व पर याद करना हम सबका कर्तव्य बन जाता है। स्वाधीनता आंदोलन का संघर्ष छत्तीसगढ़ में भी बड़े-बड़े शहरों के साथ-साथ नगरों एवं कस्बों से होता हुआ आदिवासी बाहुल्य बस्तर तथा सरगुजा में अपने बलिदान का इतिहास रचता हुआ पूरे छत्तीसगढ़ के हर रहवासी के दिलों की धड़कनों में समाता चला गया । क्रांति कुमार भारती, पंडित रविशंकर शुक्ला ,पंडित सुंदरलाल शर्मा ,डॉक्टर राघवेंद्र राव, बैरिस्टर छेदीलाल, यति यतन लाल, माधवराव सप्रे, पंडित लोचन प्रसाद पांडेय ,वामन राव लाखे ,डॉक्टर खूबचंद बघेल, पंडित लक्ष्मीनारायण दास, ठाकुर प्यारेलाल सिंह तथा  मौलाना अब्दुल रऊफ जैसे  हजारों वीर सेनानियों के हम कृतज्ञ हैं।भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने हमेशा एक धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक न्यायपूर्ण तथा सबको साथ लेकर चलने वाले भारत की नुमाइंदगी की है । परंतु खेद है कि वर्तमान केंद्र सरकार ने सभी संवैधानिक मूल्यों को भुला दिया है। आज समाज के सम्मुख अनेक चुनौतियां है जो भाजपा की नीतियों के कारण आज एक जटिल और प्रखर हो रही है। असहिष्णुता ,वर्ग भेद, जातिवाद आतंकवाद ,सांप्रदायिकता, आर्थिक असमानता ,बेरोजगारी गरीबी ,भ्रष्टाचार तथा महंगाई ने आम आदमी का जीना मुहाल कर दिया है ।साथियों वर्तमान में हमारे प्रदेश के सम्मुख भी अनेक चुनौतियां और समस्याएं हैं । इनदिनों प्रदेश के लोगों के दिलों में एक बेचैनी व्याकुलता तथा भाजपा सरकार के खिलाफ भारी आक्रोश व्याप्त है। लचर कानून व्यवस्था, हर तरफ कमीशन खोरी और भ्रष्टाचार ,किसानों के द्वारा आत्महत्या ,किसानो को उनके उत्पाद का मूल्य नहीं मिलने के कारण आक्रोश ,2100 रूपये धान का समर्थन मूल्य, 300रुपये बोनस का झूठा वायदा, आउटसोर्सिंग के द्वारा छत्तीसगढ़ियों का हक छीना जा रहा है ।सरकार के शराब बेचने के निर्णय के ख़िलाफ़ जनता में आक्रोश ,जीएसटी लागू होने से व्यापारियों में बेचैनी। प्रदेश कांग्रेस ने विगत दिनों में अनेकों बार सैकड़ों प्रदर्शन तथा आंदोलन के द्वारा भाजपा सरकार को चेताया है ।प्रदेश में पूर्ण शराबबंदी को लेकर चरणबद्ध आंदोलन तथा पैदल मार्च किया। भाजपा के भ्रष्टाचार एवं कमीशन खोरी के खिलाफ जन आंदोलन छेड़ा गया। प्रदेश में किसानों की बद से बदतर होती स्थिति को लेकर जिला मुख्यालय में किसान सत्याग्रह किया गया ।भाजपा सरकार द्वारा समय से पूर्व अचानक विधानसभा का सत्रावसान करना भी लोकतंत्र के विरुद्ध है। विगत दिनों हमारे राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री राहुल गांधी पर गुजरात प्रवास के दौरान भाजपाइयों द्वारा पथराव एवं प्रदर्शन भी भाजपा की फासीवादी होने का प्रमाण है।

साथियों संगठन को जमीनी स्तर पर मजबूत करने के लिए प्रदेश कांग्रेस द्वारा पूरे प्रदेश में विधानसभा वार कार्यकर्ता- प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जा रहा है ।विगत दिनों कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी के दो दिवसीय बस्तर प्रवास ने कांग्रेस के लोगों को ऊर्जा प्रदान की है। हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी का मार्गदर्शन हमें प्राप्त है। आइए एकता एवं एकजुटता के साथ इस पुनीत पर्व पर हम संकल्प लें कि कांग्रेस के महान संगठन को और अधिक मजबूती लोकप्रियता और गतिशीलता प्रदान करेंगे तथा भाजपा सरकार की कलंकित एवं दमनकारी नीतियों के विरुद्ध अपना संघर्ष जारी रखेंगे ।

 

error: Content is protected !!