मुख्यमंत्री ने चंदन का पौधा लगाकर की आरडीए के वनौषधि उद्यान की शुरुआत  

रायपुर। राज्य के मुख्यमंत्री ने चंदन का पौधा लगाकर आरडीए के वनौषधि उद्यान की शुरुआत की। इस दौरान डॉ. रमन सिंह ने कहा कि, हमें थकना नहीं बल्कि हमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नए संकल्प 2022 तक नए भारत का निर्माण करना है, को लेकर आगे बढऩा है।
उन्होंने यहां स्कूली बच्चों के साथ औषधि उद्यान में पौधे भी लगाए और उन्हें शुभकामनाएं भी दी। कार्यक्रम में आवास एवं पर्यावरण मंत्री राजेश मूणत, छत्तीसगढ़ वनौषि बोर्ड के अध्यक्ष रामप्रताप सिंह, राज्य सभा सांसद डॉ. भूषण लाल जांगड़े, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष धर्मलाल कौशिक भी उपस्थित थे।
इस मौके पर रायपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष संजय श्रीवास्तव ने कहा कि, मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की छवि आज छत्तीसगढ़ की सवा दो करोड़ जनता के जनसेवक के रुप में है। जब छत्तीसगढ बना था तो लोग पूछते थे कि छत्तीसगढ़ कहां है? आज मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के 5000 दिनों के कार्यकाल में छत्तीसगढ़ की पूरे देश में अपनी एक अलग पहचान बनी है। मुख्यमंत्री ने कई ऐसे कार्य किए जिससे छत्तीसगढ राज्य की गिनती देश के पहले राज्यों में है। इसमें खाद्य सुरक्षा, कौशल उन्नयन, आईटी रोड मैप, 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराने वाला राज्य, सामाजिक सेक्टर में चावल और कृषि के क्षेत्रों में अहम काम करने के कारण छत्तीसगढ़ देश के पहले राज्यों में है। पर्यावरण सुरक्षा के चिंता करते हुए डॉ. रमन सिंह ने हरियर छत्तीसगढ़ की कल्पना कर पूरे राज्य में 8 करोड़ पौधे लगाने का संकल्प लिया है। कमल विहार के लगभग 100 ऐसे क्षेत्र हैं, जिसमें उद्यान, खेल और खुला मैदान के लिए जगह छोड़ी गई है जिसमें हम आने वाले दिनों में पौधरोपण करेंगे। प्राधिकरण के इस कार्यक्रम में सबसे पहले मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने चंदन का पौधा लगाया। इसके बाद उन्होंने आवास एवं पर्यवरण मंत्री राजेश मूणत, आरडीए अध्यक्ष संजय श्रीवास्तव और स्कूली बच्चों के साथ विभिन्न प्रजाति के औषधीय पौधे लगावाए। पूरे कार्यक्रम के दौरान स्कूली बच्चों के प्रति मुख्यमंत्री का काफी स्नेह प्रदर्शित होता रहा। उन्होंने कई बच्चों से सीधी बात की। उल्लेखनीय है कि, रायपुर विकास प्राधिकरण ने पहली बार अपनी किसी योजना में वनौषधि उद्यान विकसित करने का कार्य किया है। औषधि उद्यान में 36 प्रजाति के कुल 5 हजार पौधे रोपित किए जा रहे है। इस कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ बीज विकास निगम के अध्यक्ष श्याम बैस, छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष भूपेन्द्र सवन्नी, क्रेडा के अध्यक्ष पुरन्दर मिश्रा, पूर्व विधायक नंदे साहू. पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय, रायपुर के कुलपति एस.के पांडे, दुग्ध संघ के अध्यक्ष रसिक परमार, प्राधिकरण के उपाध्यक्ष गोवर्धनदास खंडेलवाल व रमेश सिंह ठाकुर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी एम.डी. कावरे, अतिरिक्त सीईओ एस. आर. दीवान, मुख्य अभियंता जे.एस. भाटिया, संचालक मंडल के सदस्य गोपी साहू, नारद कौशल, रविन्द्र बंजारे, एम. लक्ष्मी, पार्षद प्रतिनिधि कमल साहू सहित विभिन्न संगठनों तथा गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

error: Content is protected !!