प्रदेश में सूखे की स्थिति का जश्न मना रही सरकार : भूपेश 

रायपुर। प्रदेश सरकार की ओर से 5 हजार दिन पूरे होने पर कार्यक्रमों पर कांग्रेसियों ने प्रहार किया है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल और नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव सहित पार्टी के अन्य नेताओं ने प्रदेश सरकार पर हमला किया। भूपेश बघेल ने कहा कि प्रदेश में सूखे की स्थिति है और सरकार जश्न मना रही है। उन्होंने सरकार के कार्यों की आलोचना की है।
कांग्रेस ने विज्ञप्ति जारी कर कहा कि, सरकार के ये 5 हजार दिन दमन के हैं। प्रदेश की जनता ने लोकतांत्रिक व्यवस्था को तानाशाही व्यवस्था में बदलते देखा है। किसान, आदिवासी, कारोबारी और उद्योगपती सभी सरकार के दमन का शिकार हुए हैं। सरकार ने कोई दीर्घकालीन योजना नहीं दी, शिक्षा व्यवस्था चौपट हो गई। बेरोजगारी और गरीबी बढ़ी है। छत्तीसगढ़ राज्य इसलिए बना था क्योंकि मध्यप्रदेश में रहते हुए इसकी उपेक्षा हो रही थी और भरपूर नैसर्गिक संसाधनों के बावजूद लोग गरीबी में जी रहे थे। कहने के लिए प्रति व्यक्ति आय बढ़ रही है लेकिन अगर गरीबी बढ़ रही तो फिर आय किसकी बढ़ रही है? कांग्रेसियों ने किसानों के मुद्दे पर सरकार को घेरा है। 2100 रुपए समर्थन मूल्य कभी मिला नहीं और न ही 300 रुपए बोनस का वादा पूरा हुआ। उल्टे किसानों को अपनी सब्जियां सड़कों पर फेंकने और मुफ्त बांटने पर मजबूर होना पड़ा। राज्य में शिक्षकों के 59 हजार पद खाली हैं और दो हजार ऐसे स्कूल हैं जहां सिर्फ एक ही शिक्षक है। आंखफोड़वा कांड, गर्भाशय कांड, नसबंदी कांड, स्मार्ट कार्ड घोटाला, दवा घोटाला आदि। नक्सली हमलों में कांग्रेस के नेताओं की एक पूरी पीढ़ी शहीद हो गई लेकिन सरकार ने ठीक तरह से जांच तक नहीं करवाई।
इस अवसर पर विधायक और पूर्व अध्यक्ष धनेन्द्र साहू, सांसद छाया वर्मा, पूर्व सांसद करूणा शुक्ला, पूर्व मंत्री अमितेष शुक्ल, मीडिया अध्यक्ष ज्ञानेश शर्मा, शहर अध्यक्ष विकास उपाध्याय, प्रवक्ता आर.पी. सिंह, सुशील आनंद शुक्ला, महेन्द्र छाबड़ा, घनश्याम राजू तिवारी, मो. असलम, विकास तिवारी, दिलीप अग्रवाल, मनीष दयाल, चंद्रशेखर शुक्ला उपस्थित थे।

 

error: Content is protected !!