अमाली ग्राम पंचायत सरपंच की गुंडागर्दी से पेंशनधारी भयभीत

०० सरपंच द्वारा पेंशन नहीं दिए जाने की हितग्राहियों ने की थी शिकायत

कोटा| समाज कल्याण विभाग द्वारा प्रदान की जाने वाली समस्त पेंशनधारियों की राशि ग्राम पंचायतों में हितग्राहियों को समय से नहीं मिलने की शिकायत अमाली ग्राम पंचायत के हितग्राहियों ने दिनांक 8 अगस्त को सरपंच सचिव के खिलाफ एसडीएम कोटा व जनपद पंचायत कोटा को ज्ञापन सौंपा था जिसकी खबर मीडिया ने प्रमुखता से उठाई थी खबर का असर भी हुआ और कुछ दिनों बाद अमाली के पेंशनधारियों को 3 माह की पेंशन की राशि भी प्राप्त हो गई!
मीडिया द्वारा प्रमुखता से खबर उठाए जाने के बाद अधिकारियों ने सरपंच सचिव के ऊपर दबाव बनाया व पेंशनधारियों को तत्काल राशि देने की बात कही गई अधिकारियों के दबाव व मीडिया में खबर आने के बाद ग्राम पंचायत अमाली के सरपंच दिनेश कुमार भैंना में काफी आक्रोश था दबाव बढ़ने की वजह से उसने पेंशनधारियों को तो राशि प्रदान कर दी थी पर बाजार के दिन शराब पीकर अपने साथियों के साथ सरपंच अमाली के द्वारा सार्वजनिक रूप से समस्त पेंशनधारियों को गाली गलौज व उनके साथ मारपीट करने की धमकी देने लगा इसे पेंशनधारियों में भय का माहौल है जिसकी शिकायत उन्होंने कोटा थाना में भी की है साथ में शिकायत की प्रति एस.डी.एम. कोटा व जनपद पंचायत कोटा को भी प्रेषित किया है शासन द्वारा प्रदान की जाने वाली हितग्राहियों को पेंशन की राशि जो कि शासन द्वारा ही प्रदान की जाती है उसके बाद भी ग्राम पंचायत के सरपंच सचिव द्वारा समय से हितग्राहियों को राशि प्रदान नहीं की जाती उस राशि का गलत उपयोग कर स्वयं के हित के लिए की जाती है जिस ग्रामीण जनता ने अपने हितों की रक्षा के लिए जनप्रतिनिधि चुना उसी जनप्रतिनिधि द्वारा उनके साथ अभद्र व्यवहार करना न्यायोचित नहीं लगता है इससे शासन की छवि भी खराब होती है और साथ ही शासन के मातहत अधिकारियों की भी! ऐसे सरपंच और सचिव के खिलाफ शासन को भी कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए!

error: Content is protected !!