बिजनेसमैन पति ने लगाया चरित्रहीन होने का आरोप,इंसाफ के लिए पत्नी ने लगाई महिला आयोग से गुहार

रायपुर।राज्य महिला आयोग के दरवाजे पर शुक्रवार को अपने 11 साल के बेटे के साथ बैठी एक महिला रो-रोकर अपनी आपबीती बता रही है। वो कोर्ट, प्रशासन से निराश होने के बाद महिला आयोग का दरवाजा खटखटा रही है। महिला का कहना है कि उसके पति एक बड़े पुलिस अधिकारी (आईजी) के साथ उसके अवैध संबंध होने का आरोप लगा रहे हैं।

धमतरी की रहने वाली 47 वर्षीय सविता खंडेलवाल अपने 11 साल के बेटे के साथ राज्य महिला आयोग के दरवाजे पर धरना दे रही है।सविता ने बताया कि उसकी शादी 1992 में यहां के बड़े बिजनेस मैन अखिलेश खंडेलवाल से हुई थी। 1993 में सविता ने अपने पहले बच्चे को जन्म दिया था जिंदगी पूरी तरह से हंसी-खुशी चल रही थी। 2007 में सविता ने अपने दूसरे बेटे अमित खंडेलवाल को जन्म दिया, लेकिन पति के बदलते व्यवहार से सविता परेशान रहने लगी मारपीट, घरेलू हिंसा के चलते सविता ने 16 दिसंबर 2012 को अपने पति का घर छोड़ दिया।सविता अपने बेटे की कस्टडी के लिए आमरण अनशन कर चुकीं हैं। उनका बेटा अमित अब 10 साल का हो चुका है, लेकिन उसने कभी स्कूल का मुंह भी नहीं देखा है। इधर आयोग की अध्यक्ष हर्षिता पांडे का कहना है कि सविता द्वारा बताए जा रहे मामले कोर्ट में चल रहे हैं।न्यायालयीन प्रक्रिया में होने के कारण आयोग में सुनवाई नहीं की जा सकती। इन सबके अलग से कोई समस्या हो तो महिला आयोग इसकी जांच करेगी।सविता का कहना है कि बिजनेस मैन पति के रसूख के चलते अदालती प्रक्रिया में इनके वकील भी इनके साथ कई बाद भेद-भाव कर देते हैं।

 

error: Content is protected !!