भ्रष्टाचार और कमीशनखोरी के 5 हजार दिन का जश्न: ज्ञानेश

00 किसान आत्महत्या से लेकर अंखफोड़वा और नसबंदी कांड का जश्न मनाएंगी रमन सरकार और भाजपा: कांग्रेस 

०० मुख्यमंत्री बताएं, उपलब्धियों के झूठे दावे के पीछे की हकीकत; कितने किसानों ने आत्महत्या की, कितनों ने एम्बुलेंस के अभाव में शव को कंधे पर ढोया

रायपुर। कांग्रेस ने कहा है कि रमन सरकार के 5 हजार दिन पूरे होने का जश्न सरकार और भाजपा दोनों ही मनाने जा रहे हैं, दरअसल यह उनकी नाकामियों का जश्न है। प्रदेश कांग्रेस के मीडिया चेयरमैन ज्ञानेश शर्मा ने कहा है कि मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के नेतृत्व में अंखफोड़वा कांड का जश्न होगा, नसबंदी कांड का जश्न होगा। पिछले 14 सालों से राज्य में व्याप्त भ्रष्टाचार और कमीशनखोरी का जश्न भाजपा व राज्य सरकार मिलजुलकर मनाने जा रही हैं।उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को यह स्पष्ट करना चाहिए कि यह जश्न उनके राज में किसानों की आत्महत्या का है, यह जश्न किसानों को धान का समर्थन मूल्य और बोनस न देने की खुशी का जश्न है, यह जश्न कर्ज से लदे किसानों को चिढ़ाने के लिए है।

ज्ञानेश शर्मा ने कहा कि एक ओर राज्य में भ्रष्टाचार-कमीशनखोरी है, जिससे जनता त्रस्त है, और मुख्यमंत्री समेत भाजपा 5 हजार दिनों का जश्न मनाने जा रहे हैं, यह सरासर उस जनता की खिल्ली उड़ाने जैसा है जो अपने मंत्रियों से परेशानी की गुहार लगाते-लगाते थक गए हैं, और मंत्री विदेश यात्रा से लेकर अपनी जमीनें बढ़ाने में लगे हुए हैं। राज्य का युवा वर्ग बेरोजगारी के आलम से परेशान हो चुका है, पिछले 14 साल में लाखों को रोजगार देने का झूठा दावा सरकार करती है लेकिन हकीकत यह है कि ऐसे युवाओं की संख्या हजारों में भी नहीं है, उपर से रमन सरकार हर क्षेत्र में आउटसोर्सिंग के सहारे बाहर से लाकर भर्ती कर रही है। इसी का जश्न मनाया जा रहा है।उन्होंने कहा कि राज्य में 14 साल से रमन सिंह के नेतृत्व में भाजपा की सरकार है लेकिन शिक्षा और स्वास्थ्य जैसी मूलभूत सुविधाएं भी अब तक जनता को नहीं मिल पाए हैं। शिक्षा का तो यह हाल है कि शिक्षा मंत्री पर ही पत्नी की जगह साली को बिठाकर परीक्षा दिलाए जाने का आरोप है। स्वास्थ्य सेवाओं  की यह स्थिति है कि आदिवासी इलाकों में लोग परिजन के पार्थिव शरीर कंधे पर या कचरागाड़ी में ले जाने को मजबूर हैं क्योंकि स्वास्थ्य पर करोड़ों के बजट का दावा करने वाली रमन सरकार उन्हें एम्बुलेंस उपलब्ध नहीं करवा सकती। इसी कारण भाजपा और सरकार जश्न मनाने जा रहे हैं।शर्मा ने कहा कि जश्न इस बात का भी है कि समूचा मंत्रिमंडल भ्रष्टाचार और कमीशनखोरी के आरोपों से घिरा हुआ है, मुख्यमंत्री के परिजनों का नाम पनामा खुलासे में हैं, गृहमंत्री पर स्वेच्छानुदान में बंदरबांट का आरोप है, स्वास्थ्य मंत्री की आय से अधिक संपत्ति का मामला कोर्ट में है ही। तो कृषि मंत्री पर जमीन कब्जाने का आरोप है, उधर बाकी मंत्री पर भी आरोपों की माला पड़ी हुई है। यही कारण है कि रमन सरकार और भाजपा दोनों मिलकर जश्न मनाने जा रहे हैं।

 

error: Content is protected !!