आज पंडित रविशंकर शुक्ल की जयंती, मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने दी शुभकामनाएं

रायपुर| छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज दो अगस्त को स्वतंत्रता संग्राम सेनानी और तत्कालीन अविभाजित मध्यप्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री स्वर्गीय पंडित रविशंकर शुक्ल की जयंती पर जनता को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। यहां जारी शुभकामना संदेश में कहा है कि पंडित रविशंकर शुक्ल का जन्म मध्यप्रदेश के सागर जिले में हुआ था, लेकिन हम सबके लिए यह गर्व की बात है कि उन्होंने छत्तीसगढ़ को कर्मभूमि बनाकर भारतीय स्वतंत्रता संग्राम का नेतृत्व किया। उन्होंने वर्ष 1902 में तत्कालीन खैरागढ़ रियासत में प्रधान अध्यापक के रूप में भी अपनी सेवाएं दी। उनकी हाईस्कूल की शिक्षा रायपुर में और उच्च शिक्षा जबलपुर और नागपुर में हुई।

डॉ. रमन सिंह ने कहा-स्वर्गीय पंडित रविशंकर शुक्ल एक सुयोग्य अध्यापक, कुशल प्रशासक, अच्छे वक्ता, लेखक, गंभीर, चिंतक, वकील और पत्रकार भी थे। वर्ष 1942 में अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के आव्हान पर भारत छोड़ो आंदोलन का उन्होंने छत्तीसगढ़ में कुशल नेतृत्व किया। डॉ. रमन सिंह ने कहा-आजादी के बाद 15 अगस्त 1947 से 31 अक्टूबर 1956 तक तत्कालीन सीपी एण्ड बरार प्रांत के प्रथम मुख्यमंत्री और राज्यों के पुनर्गठन के बाद एक नवम्बर 1956 से 31 दिसम्बर 1956 तक नये मध्यप्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री के रूप में जनता की बेहतरी के लिए पंडित शुक्ल के कार्यों को आज भी सम्मान के साथ याद किया जाता है। आजादी के बाद लौह पुरूष सरदार वल्लभ भाई पटेल के नेतृत्व में पंडित शुक्ल ने देशी रियासतों के भारत संघ में विलय में भी सराहनीय सहयोग दिया।
डॉ. सिंह ने कहा-छत्तीसगढ़ में भिलाई इस्पात संयंत्र की स्थापना के लिए पंडित रविशंकर शुक्ल ने केन्द्र के स्तर पर पहल करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। रायपुर शहर में संस्कृत महाविद्यालय, आयुर्वेद कॉलेज, विज्ञान और इंजीनियरिंग कॉलेज की स्थापना भी उनकी प्रेरणा से हुई। छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य और देश के विकास में उनके ऐतिहासिक योगदान के प्रति सम्मान प्रकट करने के लिए उनकी स्मृति में पंडित रविशंकर शुक्ल अलंकरण की स्थापना की है। यह अलंकरण सामाजिक, आर्थिक और शैक्षणिक क्षेत्र में सराहनीय भूमिका निभाने वाले व्यक्ति अथवा संस्था का चयन कर उन्हें हर साल छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस ’राज्योत्सव’ के अवसर पर प्रदान किया जाता है। उल्लेखनीय है कि पंडित रविशंकर शुक्ल का जन्म दो अगस्त 1877 को मध्यप्रदेश के सागर जिले में हुआ था। प्रथम मुख्यमंत्री के रूप में तत्कालीन मध्यप्रदेश सरकार का नेतृत्व करते हुए उनका निधन 31 दिसम्बर 1956 को दिल्ली में हुआ।

 

error: Content is protected !!