रक्षाबंधन पर्व पर बंदियों की बहनें अपने भाईयों को बांध सकेंगी राखीयाँ  

०० रक्षाबंधन पर 8 बजे से 4 बजे तक ही केन्द्रीय जेल में प्रवेश की अनुमति

रायपुर| रक्षाबंधन के पावन अवसर पर केन्द्रीय जेल रायपुर में परिबद्ध बंदियों को राखी बांधने के लिए सात अगस्त को प्रातः 08 बजे से शाम 04 बजे तक केवल उनकी बहनों को जेल के अन्दर जाने की अनुमति दी जाएगी। जेल उप महानिरीक्षक एवं केन्द्रीय जेल रायपुर के अधीक्षक ने बंदियों के परिजनों को सूचित करते हुए कहा है कि बंदियों को राखी बांधने वाली बहनों को अपने साथ पहचान पत्र रखना अनिवार्य होगा। जेल में कार्यरत कर्मियों द्वारा पहचान पत्र की जांच के बाद ही उनको जेल के अन्दर प्रवेश दिया जाएगा। बहनों द्वारा दी जाने वाली मिठाई की जांच के बाद एक बंदी के लिए मात्र सौ ग्राम मिठाई देने की अनुमति दी जाएगी। उन्होंने जेल के परिरूद्ध बंदियों की बहनों से अपील की है कि मिठाई के अलावा अन्य किसी भी प्रकार का खाद्य सामग्री न लावें। साथ ही अपने साथ मोबाईल, पर्स, पैसे एवं अन्य कीमती सामान भी न लावे, क्यांेकि वे अपने साथ लाने वाले उक्त सामग्रियों को जेल के अन्दर नहीं ले जा सकेंगी। उक्त सामानों को जेल में जमा करने की कोई व्यवस्था नहीं की जाएगी। सुरक्षा की दृष्टि से आवश्यकता पड़ने पर महिला कर्मचारियों द्वारा तलाशी ली जा सकती है। इस तलाशी को अपनी प्रतिष्ठा का प्रश्न न बनाकर जेल प्रशासन का सहयोग करने कहा है। बंदियों के परिजनों विशेषकर उनकी बहनों को मुलाकात के लिए मात्र 15 मिनट दिया जाएगा। रक्षाबंधन के दिन मुलाकात करने के इच्छुक बंदियों के परिजनों/बहनों को 05 अगस्त पूर्वान्ह 11 बजे तक कार्यालयीन समय में पंजीयन कराना होगा। निर्धारित अवधि तक पंजीयन कराने वाले व्यक्तियों को ही निर्धारित अवधि के भीतर जेल में प्रवेश दिया जाएगा।

 

error: Content is protected !!