भाजपा सत्ता तो कांग्रेस सच के सामने झुकाती है सिर : राहुल 

रायपुर/जगदलपुर। भारतीय जनता पार्टी के नेता और कार्यकर्ता सत्ता के सामने सिर झुकाते हैं जबकि कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता सच के सामने ही सर झुकाते हैं। भारतीय जनता पार्टी का चुनाव चिन्ह कमल है और वहीं खिलता है जहां कीचड़ होता है। कांग्रेस पार्टी का चुनाव चिन्ह हाथ का पंजा है जो कि सभी धर्मों में शामिल है। शुक्रवार को ये बातें कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने अपने बस्तर प्रवास के दौरान कही उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस का चुनाव चिन्ह सामाजिक एकता और समृद्ध राष्ट्र का प्रतीक है। हमारी सोच लोगों को जोडऩे वाली सोच है ना कि तोडऩे वाली। हमारी पार्टी प्रत्येक कार्यकर्ता का सम्मान करना जानती है इस समय आवश्यकता इस बात की है कि हम सब एकजुट होकर भारतीय जनता पार्टी के देश विरोधी विचारों के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद करें तथा कांग्रेस की नीति, सिद्धांत को जनता तक पहुंचाने का प्रभावशाली ढंग से प्रयास करें।

राहुल गांधी अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार लगभग शाम 4 बजे जगदलपुर पहुंचे। जहां बड़ी संख्या में मौजूद प्रदेश कांग्रेस के पदाधिकारियों एवं वरिष्ठ नेताओं ने उनका स्वागत किया। विमानतल से सीधे राहुल गांधी गणपति रिसार्ट के लिए रवाना हो गए जहां कांग्रेसियों को बूथ स्तर का प्रशिक्षण दिया। वे शुक्रवार और शनिवार को बस्तर में रहेंगे। प्रशिक्षण कार्यक्रम और विमानतल पर किसी भी मीडिया कर्मी को प्रवेश की इजाजत नहीं दी गयी, जिससे मीडिया कर्मियों में काफी नाराजगी व्याप्त है। वहीं किसी भी स्थानीय नेता और कार्यकर्ताओं को मिलने की इजाजत नहीं दी गयी। प्रशिक्षण स्थल पर भी गिनती के नेताओं को प्रवेश की अनुमति दी गयी। संभाग के विभिन्न जिलों व ब्लॉकों से आए नेताओं को प्रशिक्षण स्थल में प्रवेश नहीं दिया गया, जिससे उनमें मायूसी छायी रही। बीजापुर जिले से आयी अनके महिला कार्यकर्ताओं एवं नक्सल पीडि़त महिलाओं को जिन्हें संदेश देकर बुलाया गया था उन्हें भी मिलने नहीं दिया गया। इस मौके पर कांग्रेस के तमाम कद्दावर नेता और विधायक मौजूद रहे।
शिविर में पूर्व मंत्री बदरुद्दीन कुरैशी और रायपुर के पूर्व विधायक कुलदीप जुनेजा को अंदर जाने से रोक दिया गया। दोनों नेताओं को रिसार्ट के बाहर सुरक्षा अधिकारियों ने रोक दिया। बताया जा रहा है कि प्रशिक्षण शिविर में शामिल होने वाले नेताओं की सूची पहले से ही निर्धारित थी और उनसे से कांग्रेस नेताओं की मुलाकात का वक्त बाद में मुकर्रर किया गया था।राहुल गांधी पदाधिकारियों से मुलाकात के दौरान तेवर में नजर आए। उन्होंने साफतौर पर कहा कि, 2018 छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में भाजपा का मुकाबला कांग्रेस की युवा टीम से होगा। इस संबंध में अपने दो दिवसीय यात्रा पर शुक्रवार को बस्तर पहुंचे राहुल गांधी ने प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष भूपेश बघेल को निर्देश दिया है। उन्होंने बघेल से प्रदेश में युवाओं को ज्यादा टिकट देने कहा है।पिछले 14 साल से प्रदेश में सत्ता से दूर कांग्रेस ने अगले चुनाव में भाजपा को शिकस्त देने की रणनीति बना ली है। जगदलपुर में राहुल गांधी ने गणपति रिसॉर्ट में प्रशिक्षण शिविर में हिस्सा लिया। उन्होंने युवाओं को हाईटेक रहकर चुनाव में उतरने की नसीहत दी। उन्होंने भूपेश बघेल से साफ.-साफ कह दिया है कि वे अगले चुनाव में युवाओं की टीम उतारें और ज्यादा से ज्यादा टिकट युवाओं को ही दें। राहुल गांधी को गणपति रिसार्ट में सेवा दल के कार्यकर्ताओं ने सलामी दी। राहुल के साथ प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया और नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव भी मौजूद थे।कार्यकर्ता प्रशिक्षण कार्यक्रम में राहुल गांधी के आगमन के पहले पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी करुणा शुक्ला का भाषण चल रहा था। राहुल मंच पर पहुंचे तो भी करूणा शुक्ला भाषण देती रहीं। पार्टी के बड़े नेताओं ने करुणा का भाषण रूकवाने के लिए राहुल से पूछा तो उन्होंने मना कर दिया। इसके बाद भी वे नहीं रूकीं तो अन्य नेताओं ने राहुल से फिर पूछा तो उन्होंने इशारों में उनका भाषण चलने देने कहा। और राहुल खुद गंभीर होकर उनका भाषण सुनने लगे। यह घटना देख वहां मौजूद कार्यकर्ताओं का राहुल ने दिल जीत लिया।राहुल गांधी ने प्रशिक्षण शिविर में कार्यकर्ताओं से कहा कि,छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनती है तो वह सरकार केवल विधायकों की सरकार नहीं होगी वरन सभी कार्यकर्ताओं की सरकार बनेगी। उस सरकार में सबको सम्मान और सभी को उनकी योग्यता के अनुरूप जिम्मेदारी मिले यह भी सुनिश्चित किया जायेगा। राहुल गांधी ने प्रदेश महिला कांग्रेस के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं को संबोधित किया एवं अपने विचार रखे। सर्किट हाउस में विधायकों, वरिष्ठ पदाधिकारियों एवं अन्य संगठनों के प्रतिनिधियों से मुलाकात किये। साथ ही टाटा एस्सार के पीडि़तों से भी मुलाकात किये। स्थानीय आदिवासी युवको एवं छात्र प्रतिनिधियों से मुलाकात कर बस्तर की वस्तुस्थिति से अवगत हुये।

error: Content is protected !!