कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी से अमित जोगी ने किये पांच सवाल

०० अमित ने कहा अगर सवालो के जवाब दे दें तो छोड़ दूंगा राजनीति

 रायपुर| राष्ट्रीय कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी दो दिवसीय बस्तर दौरे पर आए हुए हैं इसलिए पूरा कांग्रेसी कुनबा इस समय बस्तर में ढेरा डाले हुए है इधर, उनके छत्तीसगढ़ दौरे पर सियासत तेज हो गई है। छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के नेता अमित जोगी ने राहुल के दौरे पर निशाना साधा है। उन्होंने राहुल गांधी से पांच सवाल पूछे हैं साथ ही कहा है कि यदि राहुल गांधी उनके एक भी सवाल का जवाब दे देंगे तो वे राजनीति से सन्यास ले लेंगे जोगी ने मीडिया से बात करते हुए ये बात कही।

पत्रकारवार्ता को संबोधित करते हुए अमित जोगी ने कहा कि 29 जुलाई को बस्तर में बस्तरवासियों के पांच सवालों का जवाब देने,राहुल गाँधी जी के लिए एक मंच लगाया जाएगा और मंच से वे कांग्रेस उपाध्यक्ष से पांच सवाल पूछेंगे। जोगी ने कहा कि बस्तरवासियों को राहुल गांधी के दर्शन चार साल में एक बार ही नसीब होते हैं। इसलिए कल हम बस्तर में राहुल गांधी का इंतज़ार करेंगे। चाहे वो हमारे मंच पर आयें या फिर अपने मंच से ही बस्तर की जनता के पांच प्रश्नों का उत्तर दे दें । लेकिन केवल भाषण देकर, बाइक में बैठकर, फोटो खींचाकर, बस्तर से चले न जाएँ। पूरे बस्तर को पता चलना चाहिए कि दिल्ली के नेता भाषण के आलावा बस्तर को क्या देंगे ?अमित जोगी ने चेताया कि दिल्ली से गांधी आये या मोदी आये, अब बस्तरवासी भाषण नहीं सुनेंगे बल्कि जवाब मांगेंगे। उन्होंने पूछा कि राहुल गांधी आखिर क्या सोचकर बस्तर आ रहे हैं ? पोलावरम बनाने का डेथ वारंट साइन करके चार साल बाद ये देखने आ रहे हैं कि बस्तरवासी जिंदा हैं या मर गए हैं। या फिर 2013 में नगरनार को बेचने का डेथ वारंट साइन कर देखने आ रहे हैं कि बस्तरवासी जिन्दा हैं की नहीं। जोगी ने कहा कि राहुल गाँधी लिखा हुआ भाषण याद कर उसे पढने के बजाय बस्तरवासियों को बताएं कि वो नगरनार, पोलावरम और इन्द्रावती के मुद्दे पर बस्तर का हित कैसे साधेंगे ? जबकि उनकी ही सरकार ने इन तीनों मुद्दों पर बस्तर विरोधी निर्णय लिया है जिसको आज भाजपा सरकार अंजाम तक पहुंचा रही है।

ये पांच सवाल पूछे हैं जोगी ने राहुल गांधी से

1.-. 12 अप्रैल 2013 को कांग्रेस ने नगरनार इस्पात संयंत्र का निजीकरण करने ग्लोबल टेंडर क्यों बुलाया ? क्यों यूपीए सरकार ने निजीकरण को स्वीकृति दी ?

  1. क्यों नगरनार इस्पात संयंत्र के निजीकरण का राहुल गांधी ने आज तक विरोध नहीं किया? क्यों प्रधानमंत्री को पत्र नहीं लिखा? क्यों लोकसभा और राज्यसभा में इस मुद्दे को उठाया?
  2. लौह अयस्क बस्तर का, जमीन बस्तर की तो एनएमडीसी का मुख्यालय हैदराबाद से बस्तर लाया जाना चाहिए या नहीं ?
  3. इन्द्रावती नदी पर बने जोरानाला स्ट्रक्चर को तोडऩे वाले ओडिशा के कांग्रेस विधायक चंद्रशेखर मांझी सहित अन्य स्थानीय नेताओं पर क्यों कार्यवाई नहीं की ?
  4. पोलावरम पर केवल आंध्रा का साथ और पैसा क्यों दिया? क्यों छत्तीसगढ़ के साथ सौतेला व्यवहार किया ? क्यों बस्तर में बिना जनसुनवाई किये बैगर पोलावरम परियोजना को मंजूरी दी ?

 

error: Content is protected !!