राष्ट्रपति चुनाव में क्रास वोटिंग,डहरिया ने जोगी पर उठाई उंगली

रायपुर। राष्ट्रपति पद के चुनाव नतीजे घोषित होते ही कांग्रेस में एक बार फिर बयानबाजी का सिलसिला शुरू हो गया है। क्रांस वोटिंग को लेकर कांग्रेस के पूर्व विधायक शिव डहरिया ने विधायक रेणू जोगी की तरफ इशारा किया है।डहरिया ने कहा कि भाजपा के मित्र सेना में शामिल कुछ लोगों ने पार्टी के विरोधी उम्मीदवार को वोट दिए हैं, जिनमें से एक जोगी परिवार भी है। डहरिया ने सीधे तौर पर जोगी परिवार पर निशाना साधते हुए विधायक रेणु जोगी पर क्रास वोटिंग का आरोप लगाया है।
उनका कहना है कि क्रास वोटिंग करने वाली कांग्रेस की विधायक रेणु जोगी हो सकती हैं। उन्होंने यह भी कहा कि विधायक रेणु जोगी को उप नेता प्रतिपक्ष के पद से हटाकर किसी आदिवासी को उप नेताप्रतिपक्ष बनाना चाहिए। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस से अलग होकर पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने अपनी स्वयं की पार्टी जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) का गठन कर लिया है। वहीं जोगी पुत्र मरवाही विधायक कांग्रेस से निलंबित किए गए हैं। वर्तमान में अजीत जोगी की पत्नी विधायक रेणु जोगी कांग्रेस के साथ ही हैं, लेकिन पार्टी के ही कई लोगों का उन पर विश्वास न जताना छत्तीसगढ़ कांग्रेस में फिर से बिखराव की ओर इशारा कर रहा है। हालांकि नेता प्रतिपक्ष टी.एस सिंहदेव ने विधायक रेणु जोगी पर विश्वास जताते हुए कहा कि वोटिंग बेहद गोपनीय होती है। ये नहीं कहा जा सकता कि किसने क्रास वोटिंग की है। उन्होंने रेणु जोगी पर डहरिया की टिप्पणी को खारिज करते हुए कहा कि कांग्रेस को रेणु जोगी पर विश्वास है। विधायक रेणु जोगी ने चर्चा में कहा कि हरेक इंसान को विचार प्रगट करने का अधिकार है। डहरिया ने जो बयान दिया है वह सरासर गलत है। वे कांग्रेस पार्टी के साथ ही हैं। डहरिया को पार्टी के हित में बयान देना चाहिए न कि पार्टी में बिखराव करवाने की दृष्टि से। गौरतलब है कि कांग्रेस की तरफ से मीरा कुमार को सिर्फ 35 वोट ही पड़े हैं। जबकि कांग्रेस से कुल 39 वोट छत्तीसगढ़ में है। अमित जोगी निष्कासित और आरके राय निलंबित हैं। सियाराम कौशिक भी जोगी कांग्रेस के ही साथ है। ऐसे में 39 में से तीन विधायकों को छोड़कर 36 वोट बचते हैं। लेकिन 35 वोट ही मीरा कुमार के पक्ष में आये हैं। बहरहाल अब क्रास वोटिंग किसने की यह तो पता चल पाना मुश्किल है, लेकिन शिव डहरिया के विवादित बयान से एक बार फिर छत्तीसगढ़ की राजनीति गरमा गई है। अजीत जोगी ने इस पूरे मामले में कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया है।

error: Content is protected !!