जगदलपुर से रावघाट के बीच 140 किमी लंबी रेल लाइन और 13 नए स्टेशन बनाने हुआ करार

00 मुख्यमंत्री की मौजूदगी में बीआरपीएल और इरकॉन के बीच हुए पीईए पर हस्ताक्षर
रायपुर। बस्तर रेलवे प्राइवेट लिमिटेड (बीआरपीएल) और इरकॉन के बीच शुक्रवार को परियोजना निष्पादन करार (पीईए) पर हस्ताक्षर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की उपस्थिति में किए गए। इरकॉन जगदलपुर से रावघाट के बीच 140 किमी लंबी रेलवे लाइन का निर्माण करेगा, जिसमें 13 नए रेलवे स्टेशन बनेंगे। इस रेल कॉरिडोर की अनुमानित लागत लगभग 2538 करोड़ रूपए है।
डॉ. टी.आर.के. राव, अध्यक्ष, बस्तर रेलवे प्राइवेट लिमिटेड एवं निदेशक (वाणिज्य ), एनएमडीसी लिमिटेड; एम.एल. गुप्ता, अधिशासी निदेशक, इरकॉन ने पीईए पर हस्ताक्षर किए। यह सूचित किया गया कि उपर्युक्त परियोजना के लिए भूमि अधिग्रहण का प्रथम चरण प्रारंभ हो गया है। बस्तर तथा कोंडागांव के अधीन आने वाली प्रस्तावित 101 किमी भूमि के विवरण राजपत्र में प्रकाशन के लिए रेल मंत्रालय को भेजे जा चुके हैं। मुख्यमंत्री ने संबंधित अधिकारियों को सलाह दी कि भूमि अधिग्रहण और वन भूमि के डायवर्सन की प्रक्रिया तीन महीने में पूरी कर ली जाए और अगले साल जनवरी तक इसका काम शुरू कर दिया जाए। इस अवसर पर मुख्यंमंत्री ने बस्तर रेलवे प्राइवेट लिमिटेड के `लोगो` का विमोचन किया। इस अवसर पर सुबोध कुमार सिंह, सचिव, खनिज संसाधन विभाग, छत्तीसगढ़ तथा बीआरपीएल के निदेशकगण डी. अलरमेलमंगई , ए.के. मिश्रा, आलोक कुमार मेहता तथा वी.एस. प्रभाकर, सीईओ, बीआरपीएल भी उपस्थित थे। बता दें कि बीआरपीएल एक संयुक्त उद्यम कंपनी है, जो एनएमडीसी लिमिटेड, सेल, इरकॉन तथा सीएमडीसी लिमिटेड के द्वारा बनाई गई है, जिसमें एनएमडीसी 43 प्रतिशत इक्विटी के साथ प्रमुख शेयर होल्डर है।

error: Content is protected !!