छात्र संगठन (जे) के छात्र नेता घुटने पर बैठे, कहा- दागी प्रोफेसर को नहीं सहेंगे

रायपुर। डिग्री गर्ल्स कॉलेज में छात्राओं के साथ छेड़छाड़ मामले के दोषी प्रोफेसर को प्रशासन द्वारा छत्तीसगढ़ महाविद्यालय में स्थानांतरित कर दिया गया है। प्रोफेसर के छत्तीसगढ़ कॉलेज में तबादले के बाद भी वहां के छात्र-छात्राओं द्वारा एक स्वर में विरोध के स्वर उठे। छत्तीसगढ़ छात्र संगठन (जोगी) कार्यकारी प्रदेश प्रदीप साहू के नेतृत्व में कॉलेज के सैंकड़ों छात्र-छात्राओं ने दोषी प्रोफेसर बीपी कश्यप की नियुक्ति के विरोध में प्रदर्शन किया। कॉलेज के छात्र-छात्राओं व सीएसयू(जे) के छात्र नेताओं ने घुटने के बल बैठकर कॉलेज प्रोफेसर के तबादले के विरोध में आवाज बुलंद किया और कॉलेज प्रबंधन को आवेदन देते हुए कहा कि हम अपने महाविद्यालय की पवित्र भूमि को अपवित्र नहीं होने देंगे और ऐसे दोषी प्रोफेसर को बिल्कुल भी नहीं सहेंगे।
प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप साहू ने कहा कि छेड़छाड़ के आरोपी प्रोफेसर को छत्तीसगढ़ महाविद्यालय बर्दाष्त नहीं किया जाएगा। छेड़छाड़ के आरोपी प्रोफेसर को आखिर किसका संरक्षण मिल रहा है। क्या वजह है कि ऐसे प्रोफेसर के खिलाफ अभी तक कोई सकारात्मक कार्रवाई नहीं की गई है दोषी प्रोफेसर पर एफआईआर कर तत्काल निलंबित किया जाना चाहिए। जिला अध्यक्ष अजय पाल ने कहा कि कल दोपहर बाद हम सभी छात्र छात्राएं छेड़छाड़ के दोषी प्रोफेसर बीपी कश्यप के सम्पूर्ण मामले को एसपी से अवगत कराएंगे और तुरंत एफआईआर दर्ज करने की मांग करेंगे। प्रदेश महासचिव नरेन्द्र पाल जिला उपाध्यक्ष श्वेता बाबुरिक ने बताया कि छेड़छाड़़ मामले में पीड़ित छात्राओं का महिला थाने में बयान दर्ज करवाया जा रहा है। डिग्री गर्ल्स महाविद्यालय कि पीड़ित छात्राएं प्रोफेसर बीपी कश्यप के खिलाफ अपना पक्ष रखने थाने पहुंची जहां छात्राओं का बयान दर्ज किया जा रहा है।

error: Content is protected !!