Saturday, August 24, 2019
Home > प्रदेश > लोकसुराज अभियान के चलते ठप्प पड़ा शासकीय कार्यालयों का काम-काज

लोकसुराज अभियान के चलते ठप्प पड़ा शासकीय कार्यालयों का काम-काज

०० कार्यालय अघोषित बंद, समस्याओं के निदान नहीं होने पर मायूस लौटने पर जनता मजबूर  

मुंगेली| जनता की समस्याओं को सुलझाने एवं समाधान करने जहां एक ओर सरकार के द्वारा लोकसुराज अभियान चला रही है एवं विभिन्न ग्राम पंचायत एवं नगर पालिका क्षेत्रो में समाधान शिविर लगाकर समस्याओं को दूर करने का प्रयास किया जा रहा है वहां दूसरी ओर जिला स्तर सहित अन्य कार्यालयों में अघोषित रूप से बंद देखा जा रहा है।जिससे अपनी समस्याओं के लिए कलेक्टरेट पहुचे लोगों को मायूस होकर लौटना पड़ रहा है।

जिला प्रशासन के द्वारा लोक सुराज के तृतीय चरण 12 मार्च से 31 मार्च तक प्राप्त आवेदनो के निराकरण के पश्चात समाधान शिविर लगाया जा रहा है। विभिन्न कलस्तर में आयोजित होने वाले इस शिविर में सभी जिला स्तर के अधिकारियों की उपस्थिति अनिवार्य रखी गई है। जिसके चलते विभिन्न कार्यालयों में अधिकारी नदारद है। कई कार्यालयों मे तो ताले लटके हुए है। मंडी परिसर के पास स्थित कार्यलय आबकारी उप निरीक्षक, वृत्त-मुंगेली में लगभग 2.22 बजे से ही ताले लटके हुए थे। इसी तरह से कलेक्टरेट कार्यालय में स्थित अनेक कार्यालयों में भी लगभग यही स्थिति थी। कार्यालय तो खुले हुए थे किन्तु अधिकारी और कर्मचारी नदारद रहे। ज्ञात हो कि जिला बने लगभग 6 वर्ष हो रहे है फिर भी जिला कार्यालयों में स्टाफ की कमी एवं दूसरे जिलों से आने जाने के कारण काम प्रभावित होते है। अधिकारियों एवं कर्मचारियों के लिए आवास की व्यवस्था नहीं होने के कारण जिला विकास में पिछड़ते जा रहा है।  इस संबंध में अधिकारियों से जानकारी मांगने पर उन्होने बताया कि स्टाफ की कमी एवं वित्तीय माह चलने के कारण कुछ दिक्कतें आ रही है।