Friday, February 28, 2020
Home > featured > परीक्षा के दौरान मन से डर एवं तनाव को दूर कर साहसी व निडर बनें बच्चे : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

परीक्षा के दौरान मन से डर एवं तनाव को दूर कर साहसी व निडर बनें बच्चे : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

०० बच्चों ने कहा कि-मुख्यमंत्री जी की परीक्षा के दौरान तनाव से दूर रहने की प्रेरणा है पथप्रदर्शक
०० आदिवासी बालक छात्रावास के बच्चों ने तन्मयतापूर्वक सुना लोकवाणी

रायपुर/रायगढ़| मुख्यमंत्री की मासिक रेडियोवार्ता ’लोकवाणी’ की सातवीं कड़ी को आज शासकीय प्री मैट्रिक आदिवासी बालक छात्रावास क्रमांक 2 रायगढ़ में बड़ी संख्या में बच्चों एवं युवाओं ने तन्मयतापूर्वक सुना। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने बच्चों एवं युवाओं से कहा कि परीक्षा के दौरान मन से डर एवं तनाव को दूर करें तथा हिम्मती, साहसी व निडर बनें। अपनी पूरी मेहनत करें और आत्मविश्वास बनाये रखें। उन्होंने बच्चों के अभिभावकों से अपील करते हुए कहा कि परीक्षा के समय बच्चों को आत्मीयता एवं सहयोग की अधिक जरूरत होती है इसलिए उन्हें तनाव से बचाना जरूरी है। बच्चों का मनोबल बढ़ायें और घर का वातावरण ऐसा होना चाहिए कि बच्चा शांत मन से एकाग्रचित होकर पढ़ाई करे। उन्होंने कहा कि हर किसी की जिंदगी में शिक्षा से बड़ा परिवर्तन आता है। इसलिए एक निश्चित स्तर तक पढ़ाई सबके लिए जरूरी है। शिक्षा से कैरियर के बहुत सारे रास्ते खुल जाते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि हमें बच्चों की रूचि का सम्मान करना सीखना पड़ेगा कि किस बच्चे का कैरियर उसकी किस प्रतिभा से बनेगा। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि श्राजीव युवा मितान क्लब्य के माध्यम से युवाओं को भारत के संविधान, भारत की संस्कृति, अपने प्रदेश की अस्मिता, ग्राम सेवा, सामाजिक सरोकार, पढ़े-लिखे युवाओं की ग्राम विकास में भागीदारी के लिए प्रेरित किया जाएगा। इस क्लब को 10 हजार रुपए प्रतिमाह  सहायता भी दी जाएगी। उन्होंने कहा कि युवा महोत्सव जैसे आयोजन बच्चों की अभिरूचियों को दिशा प्रदान करते है। युवा महोत्सव के माध्यम से लाखों युवाओं की भागीदारी सुनिश्चित हुई, जिसमें उन्होंने अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया और प्रतियोगिता में शामिल हुए। बीकाम अंतिम के विद्यार्थी हेमानंद भोय ने कहा कि मुख्यमंत्री ने हम विद्यार्थियों को तनाव से दूर रहने के लिए जो प्रेरणा दी है वह पथप्रदर्शक है। बीएससी प्रथम वर्ष के विद्यार्थी सुनील राठौर ने कहा कि उन्हें मुख्यमंत्री की यह बात अच्छी लगी कि उन्होंने बच्चों से कहा है कि परीक्षा के दौरान मोबाइल एवं अन्य टेक्नालॉजी का उपयोग कम से कम करें और अपनी पढ़ाई पर विशेष ध्यान दें। बीएससी प्रथम वर्ष के विद्यार्थी भानु प्रताप ने कहा कि हम जैसे दूरदराज गांव में रहने वाले युवाओं के लिए राजीव गाधी मितान क्लब हमें अपनी संस्कृति से जोडऩे एवं हुनर प्रदर्शित करने का एक मंच प्रदान करेगा। वहीं उन्होंने मितान क्लब के लिए प्रतिमाह 10 हजार रुपए की राशि की पहल को भी सराहनीय बताया। वहीं युवा महोत्सव भी युवाओं की हॉबी एवं उनकी प्रतिभा को सामने लाने के लिए शासन की ओर से एक बहुत अच्छा आयोजन रहा है। बीएस अंतिम के विद्यार्थी राकेश मनहर ने कहा कि बड़ी संख्या में स्थायी पद पर भर्तियां की जानी है, यह सुनकर बहुत खुशी हुई। बीएस अंतिम के विद्यार्थी नितेश ने कहा कि मुख्यमंत्री की यह बहुत अच्छी लगी कि परीक्षा में अगर कम अंक आये भी तो निराश नहीं होना चाहिए। अपनी मेहनत जारी रखनी चाहिए। आगे भी बहुत कुछ कर सकते है, इसलिए पढ़ाई पर ध्यान देना चाहिए। बीए प्रथम वर्ष के नवीन कुमार पैकरा ने कहा कि  बिना तनाव के एकाग्रचित होकर पढऩे की प्रेरणा से वे अच्छा महसूस कर रहे है। इस अवसर पर छात्रावास अधीक्षक श्री आसिफ खान, श्री अरविंद नायक, श्री सुनील यादव, श्रीमती अजीत कुमार बेक, तेजस्विनी मेडिकल कोचिंग छात्रावास की सुश्री प्रियंका दवे सहित बड़ी संख्या में बच्चें उपस्थित थे।