Friday, February 28, 2020
Home > featured > मुख्यमंत्री की नसीहत से प्रयास आवासीय विद्यालय के बच्चे हुए प्रेरित

मुख्यमंत्री की नसीहत से प्रयास आवासीय विद्यालय के बच्चे हुए प्रेरित

०० प्रयासके बच्चों ने सुनी लोकवाणी, सीखे परीक्षा के दौरान समय प्रबंधन के गुर

रायपुर| मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की मासिक रेडियो वार्ता ‘लोकवाणी’ का प्रसारण आज यहां सड्डू स्थित प्रयास आवासीय विद्यालय के बच्चों ने भी सुना। ‘परीक्षा प्रबंधन और युवा कैरियर के आयाम’ विषय पर आधारित आज के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने परीक्षा के दिनों में समय और तनाव प्रबंधन तथा युवाओं के लिए करियर के विभिन्न आयामों पर बात की। प्रयास विद्यालय के बच्चों ने उनकी बातें बहुत ध्यान से सुनीं और बेहतर परिणाम के लिए उन पर अमल करने की बात कही।
यहां कक्षा ग्यारहवीं में गणित विषय लेकर पढ़ रहे स्वप्निल तिवारी ने कहा कि आज मुख्यमंत्री ने रेडियो के माध्यम से हमें बहुत अच्छा मार्गदर्शन दिया। उनकी बातों से हमें परीक्षा के दिनों में तनाव, घबराहट और डर से निपटने में मदद मिलेगी। मुख्यमंत्री ने परीक्षा के दिनों में मोबाइल और सोशल मीडिया से दूर रहने की सलाह दी है। इस पर वे जरूर अमल करेंगे और अपना ज्यादा से ज्यादा समय पढ़ाई में लगाएंगे। ग्यारहवीं, गणित संकाय में ही पढ़ने वाले विनय प्रताप ईशदा ने कहा कि परीक्षा का समय नाजुक होता है। उस समय बहुत सारी बातें हमारे मन में चलते रहती हैं। आज की रेडियो वार्ता में मुख्यमंत्री द्वारा दी गई सीख हमारे लिए बहुत उपयोगी है। टॉपर बच्चों से तुलना किए बगैर हमें अपनी क्षमता के अनुसार मेहनत करना चाहिए। मुख्यमंत्री ने अभिभावकों को भी सलाह दी है कि वे बच्चों पर अनावश्यक दवाब न डालें और सकारात्मक रहते हुए बच्चों की हरसंभव मदद करें। मुख्यमंत्री की बातों से पालक भी प्रेरित हुए होंगे। इससे अब वे परीक्षा के दिनों में बेहतर ढंग से बच्चों की मदद कर पाएंगे। जीव विज्ञान संकाय में कक्षा ग्यारहवीं में अध्ययनरत लिंकन पंडा ने कहा कि मुख्यमंत्री का आज का कार्यक्रम काफी प्रेरणादायक है। अलग-अलग तरह के कैरियर और सरकार द्वारा युवाओं के स्थायी रोजगार के लिए उपलब्ध कराए जा रहे अवसरों की जानकारी से हमें आगे का रास्ता चुनने में सहूलियत होगी। मुख्यमंत्री के सुझाव पर अमल कर हम लोग परीक्षा के दिनों में डर, दबाव और तनाव से दूर रहेंगे। एक-दूसरे की मदद कर उत्साह बढ़ाएंगे। उनकी सलाह ‘मन के हारे हार है मन के जीते जीत’ का पालन कर मजबूत मनोबल व मेहनत के साथ हम लोग परीक्षा की तैयारी करेंगे।