Friday, February 28, 2020
Home > featured > मुख्यमंत्री रेडियोवार्ता ’लोकवाणी’ की सातवीं कड़ी में मुख्यमंत्री ने कहा स्कूल-कालेजों में 20 हजार पदों पर की जा रही है भर्ती

मुख्यमंत्री रेडियोवार्ता ’लोकवाणी’ की सातवीं कड़ी में मुख्यमंत्री ने कहा स्कूल-कालेजों में 20 हजार पदों पर की जा रही है भर्ती

०० बस्तर, सरगुजा और बिलासपुर संभाग में कनिष्ठ सेवा चयन बोर्डबनाए गए

रायपुर| मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज मासिक रेडियोवार्ता लोकवाणी की सातवी कड़ी में ‘परीक्षा प्रबंधन और युवा कैरियर के आयाम‘ विषय पर विद्यार्थियों से आत्मीयता के साथ बातचीत की। मुख्यमंत्री ने लोकवाणी में रोजगार के अवसरों के संबंध में पूछे के सवालों के जवाब में बताया कि पढ़ाई और नौकरी, दोनों विषयों पर तनाव के साथ नहीं बल्कि ठण्डे दिमाग से सोचने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि राज्य में बेरोजगारी बड़ी तेजी से घटी है। इसका मतलब रोजगार के अवसर तेजी से बढ़े हैं। हमने बड़े पैमाने पर स्थायी नौकरी के अवसर बनाए। जिसके कारण, स्कूल-कॉलेज में ही लगभग 20 हजार पदों पर भर्ती की प्रक्रिया चल रही है। सिर्फ शिक्षा नहीं बल्कि सारे विभागों में, ऐसे हजारों अवसर दिए जा रहे हैं। अनुसूचित क्षेत्र के युवा साथियों को बता दूं कि बस्तर, सरगुजा और बिलासपुर संभाग में तो न सिर्फ जिला संवर्ग में भर्ती की समय सीमा बढ़ाई, बल्कि तीनों संभागों के लिए अलग-अलग ‘कनिष्ठ सेवा चयन बोर्ड’ भी बनाए गए हैं, ताकि हर वर्ग के लोगों को उनकी योग्यता के अनुसार नौकरी मिले।

युवा शक्ति को रचनात्मक दिशा देने राजीव युवा मितान क्लबका गठन
लोकवाणी में सरगुजा के अमन गुप्ता ने ‘‘राजीव युवा मितान क्लब’’ के बारे में प्रश्न पूछा। मुख्यमंत्री ने जवाब में कहा कि हमने यह तय किया है कि युवा शक्ति को रचनात्मक और सकारात्मक दिशा देने के लिए गांव-गांव में राजीव युवा मितान क्लब के माध्यम से एक ओर जहां हम युवाओं को वैचारिक रूप से भारत के संविधान, भारत की संस्कृति, अपने प्रदेश की अस्मिता, ग्राम सेवा, सामाजिक सरोकार, पढ़े-लिखे युवाओं की ग्राम विकास में भागीदारी और अच्छे संस्कारयुक्त मनोरंजन के लिए प्रेरित करेंगे। हम ऐसी युवा शक्ति तैयार करना चाहते हैं जो अपनी माटी का सम्मान करे और अपनी माटी का कर्ज चुकाने को तैयार रहे। हर गांव में राजीव युवा मितान क्लब को हम 10 हजार रूपये महीने की सहायता देंगे। विभिन्न विधाओं के जानकार भी इस क्लब से जुड़ंेगे तो हमारी यह पहल सार्थक होगी।

मोबाइल, सोशल मीडिया का उपयोग अपनी कार्यक्षमता बढ़ाने में करें
बच्चों ने मुख्यमंत्री से मोबाइल से ध्यान हटाने और सोशल मीडिया के बढ़ते प्रभाव से बचने के उपायों के संबंध में भी प्रश्न पूछे। मुख्यमंत्री ने कहा कि नई टेक्नालॉजी का उपयोग जब हम अपनी सुविधा के लिए करते हैं तो उससे हमारी कार्यक्षमता बढ़ती है। लेकिन यदि इस सुविधा का ज्यादा उपयोग सिर्फ मनोरंजन में होने लगता है और इससे समय खराब होता है तो दृढ़ निश्चय करके इसके उपयोग पर अंकुश लगाना चाहिए। निश्चित तौर पर परीक्षा के समय यदि जरूरी हो तो ही मोबाइल, इंटरनेट आदि का उपयोग करंे अथवा बिल्कुल नहीं करें। अपना पूरा समय पढ़ाई के लिए देना तय करेंगे, तो सब ठीक हो जाएगा।

प्रदेश में पहली बार खेल प्राधिकरण और लोककला परिषद का गठन जैसे कदम इसी दिशा में उठाए गए हैं। हमने स्थानीय बोली-भाषा में पढ़ाई का इन्तजाम, संविधान की प्रस्तावना का वाचन और उसके प्रावधानों पर चर्चा जैसे नए कदम भी उठाए हैं, ताकि आपको अपने अधिकारों और अवसरों के बारे में जानकारी मिल सके। उन्होंने सभी छात्र-छात्राओं को आगामी परीक्षाओं के लिए शुभकामनाएं देते हुए कहा कि यदि सही समय पर सही योजना बनाकर काम करेंगे तो कोई भी आपको लक्ष्य तक पहुंचने से रोक नहीं सकता। आप सभी को आगामी परीक्षाओं के लिए शुभकामनाएं।