Thursday, December 12, 2019
Home > featured > आईटीबीपी कैंप में जवान ने खेला खूनी खेल, 6 की मौत, गृह मंत्री ने दिए घटना के जांच के आदेश

आईटीबीपी कैंप में जवान ने खेला खूनी खेल, 6 की मौत, गृह मंत्री ने दिए घटना के जांच के आदेश

०० धौदई क्षेत्र के कडेनार कैंप में दो दिन से जवानों के बीच चल रहा था विवाद

रायपुर| नारायणपुर जिले में बुधवार सुबह आईटीबीपी कैंप में जवान रहमान खान ने साथियों पर फायरिंग कर दी। इसमें 4 जवानों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि 3 जवान घायल हो गए। बाद में रहमान ने खुद को भी गोली मारकर खुदकुशी कर ली। इस बीच घायल जवानों को हेलिकॉप्टर से रायपुर ले जाया गया। इलाज के दौरान एक और जवान ने दम तोड़ दिया। इस घटना पर प्रदेश के गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने दुख प्रकट किया और पूरे मामले की जांच के आदेश दिए हैं। साथ ही इस गोलीबारी में घायल जवानों को बेहतर इलाज के लिए हेलिकॉप्टर से रायपुर लाने के निर्देश दिए हैं।

पुलिस ने बताया कि आईटीबीपी का यह कैंप धौदई क्षेत्र में कडेनार में है। सुबह 8:45 बजे हुई फायरिंग में कुल 6 जवानों की मौत हुई। बस्तर आईजी पी.सुंदरराज के मुताबिक, यह आपसी विवाद ही लग रहा है। फायरिंग का कारण जांच के बाद ही सामने आएगा। फायरिंग में मारे गए जवानो में कांस्टेबल मसुदुल रहमान निवासी नादिया, पश्चिम बंगाल (इस जवान पर फायरिंग का आरोप), हेड कांस्टेबल महेंद्र सिंह निवासी संदियार  बिलासपुर  हिमाचल प्रदेश, कांस्टेबल सुरजीत सरकार निवासी नॉर्थ श्रीरामपुर, बर्द्धवान, पश्चिम बंगाल, हेड कांस्टेबल दलजीत सिंह निवासी जागपुर लुधियाना पंजाब, कांस्टेबल बिश्वरूप महतो निवासी खुक्रामपुरा, पुरलिया, पश्चिम बंगाल कांस्टेबल बेजीश ए.सी. निवासी एरावत्तूर, कोझिकोड, केरला के नाम शामिल है घायल जवानों में कांस्टेबल उल्लास एस.बी निवासी पुलिमठ, तिरुवंद्रापुरम, केरला कांस्टेबल सीताराम दून निवासी नयाबास, नागौर, राजस्थान है| गृह मंत्री ने मीडिया से बातचीत में बताया कि नारायणपुर जिले के कडेनार स्थित आईटीबीपी कैंप में जवान द्वारा गोलीबारी की खबर मिली है। इस घटना में कुल 6 जवानों की मौत की खबर है। उन्होंने बताया कि घटनास्थल पर आईजी और नारायणपुर जिले के एसपी रवाना हो गए हैं। उन्होंने बताया कि घटना के जांच के आदेश दे दिए गए हैं। जांच के बाद ही पता चल पाएगा कि जवान ने इस घटना को क्यों अंजाम दिया। मंत्री ताम्रध्वज साहू ने इस बात से पूरी तरह इनकार की जवान ने सरकार के किसी आदेश से नाराज होकर साथी जवानों पर फायरिंग की है। उन्होंने इस बात से साफ इनकार किया कि जवानों को छुट्टी न मिलने की वजह से जवान निराशा में ऐसी घटना को अंजाम देते हैं। मंत्री ने बताया कि जवानों की छुट्टियां तय होती है। छुट्टी के लिए उन्हें रोका नहीं जाता, क्योंकि फोर्स समय-समय पर जवानों को बदलती रहती है।