Thursday, December 12, 2019
Home > featured > बालोद जिले मे बेखौफ प्रशासन के नाक के नीचे हो रहा रेत खनन

बालोद जिले मे बेखौफ प्रशासन के नाक के नीचे हो रहा रेत खनन

शिकायत के बाद भी नही हो रही कार्यवाही

रेत खनन होंने से गाँव के लोग बहुत परेशान है

के नागे

बालोद। जिले के अंतर्गत ग्राम गोड़पाल एवं आस पास के नदी मे जेसीबी मशीनों द्वारा रेत का अवैध खनन कर हाईवा से ले जाया जा रहा है वहीं करीब दो जेसीबी मशीनों द्वारा रेत खनन किया जा रहा है चर्चित रेत खनन माफिया नियमों को ताक में रख कर नदी से रेत निकालने मे लगे हुए हैं न ही किसी का खौप है न ही किसी नियम का पालन किया जा रहा है फिर भी शासन-प्रशासन रेत खनन माफियाओं के आगे नतमस्तक दिखता नजर आ रहा है फिलहाल बालोद जिले का खनन के मामले में चर्चित गांव गोड़पाल थाना बालोद के अंतर्गत आता है बेखौफ ओवरलोड रेत से भरे हाईवा नजर आते है वहीं आपको बताते चलें कि यदि कोई जिले का उच्च अधिकारी ओवरलोड हाईवा तथा अन्य गाड़ी को पकड़ने के लिए आते हैं तो एक स्थानीय जनप्रतिनिधि की भुमिका संदिगध नजर आती है और अधिकारियों के भी आशीर्वाद से ये रेत खनन का धंधा फल-फूल रहा है वहीं राजस्व विभाग के कर्मचारीयों की भी मिलीभगत नजर आती है ओवरलोड हाईवा के निकलने से गाँव के लोग काफी परेशान है क्योकि एक घर एक किसान की व्यथा की कथा नही है पूरा गांव आज इसी नासूर से पीड़ित है वहीं गाँव के लोग कई बार आलाधिकारियों से शिकायत कर चुके है लेकिन कोई सुनने को तैयार नही विरोध के नाम पर आवाज ज्यादा बुलंद नही कर सकते क्योंकि दबंगो की फौज चमड़ी उधेड़ने को तैयार है फिलहाल जिले के बड़े वाली साहिबा रेत खनन माफियाओं के आगे आपकी सेना नतमस्तक है बस यही आपकी सबसे बड़ी उपलब्धि है अब देखने वाली बात तो ये है कि क्या बालोद थाना इंचार्ज अंधेरी रात में धड़ल्ले से हो रहे अवैध रेत खनन माफियाओं पर क्या कुछ कार्यवाही करते है या फिर पुलिस व रेत खनन माफिया के बीच ये खेल ऐसे ही चलता रहेगा सोचने वाली बात यह है कि आखिरकार खनिज विभाग कर क्या रहा है क्या शासन प्रशासन खनिज विभाग को इस लिए रखा है की रेत खनन करने वालों को साथ दे मौजूदा हालात से तो ऐसा ही लगता है कि पूरी की पूरी प्रशासन ही माफियाओं के साथ मे है।