Saturday, August 24, 2019
Home > featured > ब्लड बैंक खुलवाने के लिए लामबंद हुई महिलाएं, अपनाया गांधीवादी तरीका

ब्लड बैंक खुलवाने के लिए लामबंद हुई महिलाएं, अपनाया गांधीवादी तरीका

मनेन्द्रगढ़| गांधीगिरी का एक ऐसा उदाहरण महिलाओं द्वारा मनेंद्रगढ़ केंद्रीय चिकित्सालय में पेश किया जा रहा है जिसकी तारीफ पूरे कोरिया जिले में ही नहीं अपितु पूरे छत्तीसगढ़ राज्य में हो रही है| एसईसीएल की इतनी किरकिरी शायद ही कभी हुई होगी| एसईसीएल के कार्मिक प्रबंधन DP bilaspur SECL(श्री आरएस झा), अध्यक्ष सह निर्देशक CMD bilaspur SECL (shree panda sir), मुख्य चिकित्सा अधिकारी CMS bilaspur SECL (Dr.Meenakshi madam) एवं कोल् इण्डिया लिमिटेड के चेयरमैन(anil kumar jha) तक इस मुद्दे में संज्ञान ले चुके हैं और एसएससीएल में हलचल है|

हर जगह इसी बात की चर्चाएं गर्म है सालों पहले बने ब्लड बैंक बिल्डिंग जिसकी करोड़ों में लागत बताई जा रही है और सालों से ब्लड बैंक उद्घाटन होने के बाद भी शुरू ना हो पाना यह निश्चित ही बड़े अधिकारियो की लापरवाही है जिसे महिलाओं ने और मनेन्द्रगढ़ की जनता ने सामने ला दी है। इस ही कड़ी में आज 9 अगस्त को अतर्राष्ट्रीय लायेन्स  क्लब के सभी पदाधिकारी गण एवं सदस्य गुलाब और साथ में ज्ञापन लेकर सेंट्रल हॉस्पिटल मनेंद्रगढ़ सीएमओ मैडम को देने के लिए पहुचे एक दिन का प्रभार डॉ. नम्रता मैडम को दिया गया था क्योकि कौर मैडम बिलासपुर गयी हुई थी तो डर.नम्रता मैडम को  सौहार्द पूर्ण वातावरण में गुलाब और ज्ञापन दिया। जिस पर डॉ नम्रता मैडम जी ने सभी को आश्वस्त कराया कि हम सभी भी इस मुहिम में आपके साथ हैं और जितना हो सके जल्द से जल्द प्रयास किया जा रहा है कि ब्लड बैंक मनेंद्रगढ़ में शुरू हो सके। उक्त अवसर पर लायनेश क्लब से  लायनेश अध्यक्ष  बेबी मखीजा, लायनेस ज्योति अग्रवाल, लायनेस पम्मी अरोरा, लायनेस प्रभा पटेल, लायनेस अर्चना जसवाल, लायनेस बिंदु  आदि सभी मौजूद रहे।