Sunday, September 22, 2019
Home > featured > देखे video : आतंकवाद विरोधी दिवस के रूप में काँग्रेस ने मनाई पूर्व प्रधानमंत्री स्व.राजीव गांधी की पुण्यतिथि

देखे video : आतंकवाद विरोधी दिवस के रूप में काँग्रेस ने मनाई पूर्व प्रधानमंत्री स्व.राजीव गांधी की पुण्यतिथि

०० आतंकवाद विरोधी दिवस पर मशाल मार्च कर शांति और मानवता का दिया संदेश 

०० राजीव गांधी सूचना प्रौद्योगिकी एवं दूरसंचार क्रांति के जनक है : विकास उपाध्याय

रायपुर|  आम आदमी को होरहे कष्टो तथा आतंक एवं हिंसा से राष्ट्रीय हित पर पड़ने वाले प्रतिकूल प्रभावों से आम लोगो को आतंकवाद एवं हिंसा से दूर रखने के उद्देश्य से आतंकवाद विरोधी दिवस मनाया जाता है आज ही के दिन 21 मई को आधुनिक भारत के भारत रत्न स्व. राजीव गांधी की शहादत हुई थी आतंकवादियों ने प्रधानमंत्री राजीव गांधी की बम से हत्या कर दी थी।आतंकवाद आज के समय मे विश्व की सबसे बड़ी समस्या है इससे निपटने के लिए भारत मे 21 मई को आतंकवाद विरोधी दिवस (anti terrorism day)  मनाया जाता है।पश्चिम के विधायक विकास उपाध्याय ने भारत रत्न स्व. राजीव गांधी के 28 वी पुण्यतिथि पर आतंकवाद विरोधी दिवस पर शांति एवं मानवता का संदेश देने के लिए एनआईटी के सामने साइंस कॉलेज के पास से रविशंकर विश्वविद्यालय तक मशाल मार्च किया गया|

विधायक विकास उपाध्याय ने बताया कि राजीव गांधी का जन्म 20 अगस्त  1944 को हुआ था वे 40 साल की उमर में भारत के 7वे प्रधानमंत्री बने।पढ़ाई के लिए राजीव गांधी देहरादून के वेलहम बॉयज स्कूल गये उन्होंने फ्लाइंग क्लब से पायलेट की ट्रेनिग ली ओर 1970 में पायलट के रूप में एयर लाइन्स में काम करना शुरू किया भाई संजय गांधी की विमान दुर्घटना में मौत होगई तब राजीव ने राजनीति में प्रवेश शुरू किया और अमेठी से चुनाव लड़ा। जब 1984 में इंदिरागांधी मौत हुई तब राजीव गांधी प्रधानमंत्री बने 1984 में राजीव गांधी के नेतृत्व में लोकसभा चुनाव लड़ा ओर काँग्रेस को 400 से ज्यादा शीट मिली यह देश के इतिहास में लोकसभा चुनाव में सबसे बड़ी जीत है।राजीव गांधी ने देश के विकास में बहुत बड़ा योगदान दिया राजीव गांधी को भारत के सूचना प्रौद्योगिकी एवं दूरसंचार क्रांति का जनक भी माना जाता है उन्होंने न केवल दूरसंचार के क्षेत्र में देश को नई दिशा दी बल्कि देश मे कम्प्यूटर युग की शुरुआत भी राजीव गांधी ने ही कि राजीव गांधी ने ही युवाओ को 18 साल की उम्र में मताधिकार दिलाया,पंचायती राज्य चुनाव आदि की शुरुवात राजीव गांधी के नेतृत्व में ही शुरू हुई आतंकवाद आज के समय मे पूरे विश्व मे सबसे बड़ी समस्या है इससे निपटने के लिए भारत मे 21 मई को आतंकवाद विरोधी दिवस मनाया जाता है आज ही के दिन आज से 28 साल पहले 21 मई 1991 को तमिलनाडु के श्रीपेरबंदूर में एक रैली के दौरान तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी की आतंकवादी संगठन द्वारा हत्या कर दी गई राजीव गांधी जिस समय रैली को संबोधित कर रहे थे उसी समय एक महिला अपने शरीर पर विस्फोट लगाकर आई वह राजीव गांधी के पैर छूने के लिए जैसे ही झुकी तेज धमाका हुआ और प्रधानमंत्री राजीव गांधी समेत 25 लोगो की मौत होगई।मानव बम बनकर आई इस महिला के तार आतंकवादी संगठन LTTE (Liberation Tigers of Tamil Eelam) से बताया गया आज के समय मे दुनिया जिन समस्याओं का सामना कर रही है वह है आतंकवाद, आतंकवाद के कारण हजारों लोगों को दुनिया मे अपनी जान गवानी पड़ती है भारत समेत कई देशों को बड़ा नुकसान उठाना पड़ रहा है। विधायक विकास उपाध्याय ने बताया कि हर साल 21 मई को आतंकवाद की समाज विरोधी कार्यो से लोगो को जनता को अवगत कराने के लिए राजीव गांधी के शहादत को आतंकवाद विरोधी दिवस मनाया जाता है इस दिन सरकारी संस्थानों और दफ्तरों में शांति का संदेश फैलाया जाता है साथ ही देश मे आतंकवाद से होने वाले खतरों एवं नुकसान के बारे में लोगो को जागरूक किया जाता है आज के इस आतंकवाद विरोधी दिवस पर मशाल मार्च में सोनिया यादव,पूजा देवांगन,एमआईसी सदस्य एवं पार्षद विमल गुप्ता,जोन अध्यक्ष सोमन ठाकुर,रामदास कुर्रे,संदीप साहू ब्लॉक अध्यक्ष दाऊलाल साहू, देव कुमार साहू, अशोक ठाकुर, राजेश बघेल, दिब्य किशोर नियाल, आकाश तिवारी, आशीष शर्मा,नंदन झा, बद्री प्रसाद मिश्रा, राजेश स्वामी, कुलदीप ध्रुव, अमित शर्मा, डॉ.विकास पाठक, रोशन श्रीवास, कामत साहू, शांतनु झा, आशुतोष मिश्रा,टार्जन,प्रकाश मानिकपुरी,रमाकांत शर्मा,मनोज ढहाते,मधु नायक,शंकर बघेल,चंदन बारीक,हेतराम साहू,खितिराम तांडी एवं काँग्रेस के समस्त सदस्य उपस्थित हुये|