Saturday, August 24, 2019
Home > प्रदेश > मुंगेली > डॉक्टरों की लापरवाही से तड़पते तड़पते दम तोड़ा घायल युवक ने

डॉक्टरों की लापरवाही से तड़पते तड़पते दम तोड़ा घायल युवक ने

(सागर सोनी) मुंगेली 12 जून 2018 भगवान भरोसे संचालित रेफर सेंटर कहे जाने वाले मुंगेली के जिला अस्पताल के डॉक्टरों का एक बार फिर अमानवीय चेहरा सामने आया है दुर्घटना से आहत एक युवक अस्पताल में घंटो तड़पता रहा न तो उसका उपचार हो सका और न ही एम्बुलेंस नसीब हुआ परिजनो ने जब प्राइवेट हॉस्पिटल ले जाने एम्बुलेंस व्यवस्था किया तब तक देर हो चुकी थी और आहत ने रास्ते मे ही दम तोड़ दिया जिससे गुस्साए परिजनों ने जिला अस्पताल में देररात जमकर हंगामा किया और तोड़फोड़ भी की दअरसल सोमवार को देर शाम चकरभाठा निवासी हीरालाल जायसवाल मजदूरी कर अपने घर लौट रहा था तभी सिटी कोतवाली मुंगेली इलाके के रायपुर रोड में हाइवा की ठोकर से गंभीर रूप से घायल हो गया जिसे आसपास के लोगो और पुलिस की मदद से जिला अस्पताल में उपचार हेतु दाखिल कराया गया था घंटो तड़पने के बाद भी मरीज का उपचार नही हो सका यहाँ तक के ऑक्सीजन तक नसीब नही हुआ हद तो तब हो गई जब एक डॉक्टर ने सिम्स रेफर की सलाह तो देदी मगर इसके बाद भी उसे एम्बुलेंस मुहैया नही कराई गई करीब 4 -5 घण्टे तक तमाशा देखने के बाद जब परिजनों ने प्राईवेट हॉस्पिटल ले जाने एम्बुलेंस मंगाई तब तक काफी देर हो चुकी थी और समय मे उपचार नही मिलने की वजह से जिला अस्पताल से प्राइवेट अस्पताल ले जाते वक्त आहत हीरा लाल ने रास्ते में ही तोड़ दिया इससे बौखलाए परिजनों का जिला अस्पताल के डॉक्टरों के खिलाफ गुस्सा फूट पड़ा और रात में ही अस्पताल में मृतक का शव रखकर इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया वही लापरवाह डॉक्टरों पर कार्यवाही की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे परिजनों ने जिला अस्पताल में तोड़फोड़ भी किया इधर घटना की सूचना मिलते ही देर रात करीब साढ़े 11 बजे कांग्रेसियो की भीड़ अस्पताल पहुंच गई मृतक के परिजनों और कांग्रेसियो की अस्पताल में शव रख रात में घंटो प्रदर्शन करने के बाद भी जिम्मेदार अधिकारी नींद से नही जागे यह तो बिल्कुल ही दुर्भाग्यजनक है लंबे समय से जिला अस्पताल के डॉक्टरों की संवेदनहीनता और लापरवाही से मुंगेली के जनता बेहद त्रस्त है और इसके लिए स्थानीय बीजेपी विधायक को भी कोसते रहते है।