नारायणी साहित्य अकादेमी ने 24 अगस्त से 31 अगस्त तक मनाया “प्रेमचंद सप्ताह”

रायपुर| प्रेमचंद जयंती के अवसर पर नारायणी साहित्य अकादेमी द्वारा 24 अगस्त से 31 अगस्त तक लगातार कहानी,  व्यंग्य आदि का ऑनलाइन वाचन किया गया।

संस्था की एक विज्ञप्ति में बताया गया  कि इस अष्ट दिवसीय आयोजन में मुंशी प्रेमचंद की कहानी “ठाकुर का कुआँ”, छत्तीसगढ़ी लोक कथाएं “दिन-रात” एवं “बईहा राजा”, स्वर्गीय श्री  विनोद शंकर शुक्ल के व्यंग्य “हरिशंकर परसाई के नाम पत्र”, “आदमी और पशु”, स्वर्गीय श्री प्रभाकर चौबे का व्यंग्य “घूसखोरी नहीं सेवाखोरी”, श्री श. ल. म. प्रचंड की लघुकथा “अंतर”, श्री अशोक भाटिया की लघुकथा “रंग” आदि का वाचन श्री राजेन्द्र ओझा द्वारा किया गया एवं इन पर समीक्षात्मक टिप्पणी संस्था की प्रांतीय अध्यक्ष डॉ श्रीमती मृणालिका ओझा द्वारा प्रस्तुत की गई।

error: Content is protected !!