देश के 5 टाप जिलों में छत्तीसगढ़ के 3 जिलों का होना गौरव की बात : कांग्रेस

रायपुर। नीति आयोग की रैंकिंग पर प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील  आनंद  शुक्ला ने कहा है कि यह बड़े गौरव की बात है कि देश के आकांक्षी जिलो में प्रथम पांच जिलों में छत्तीसगढ़ के 3 जिले अपना स्थान बनाने में सफल हुये है। जो वित्तीय समावेश एवं कौशल विकास के मामले में अग्रणी है। नीति आयोग इसका आकलन वित्तीय सेवा मुहैया कराए जाने एवं युवाओं को रोजगार दिलाने के मापंडो को आधार मानकर करता है। नीति आयोग ने नवंबर 2019 तक की स्थिति में यह डेल्टा रेंकिंग जारी की है। इसमें नारायणपुर, सुकमा, राजनांदगांव का होना पूरे छत्तीसगढ़ के लिये गौरव की बात है और छत्तीसगढ़ की नयी सरकार के द्वारा विकास की जो नीति बनायी जा रही है उस पर एक बड़ी मुहर है।

कांग्रेस की सरकार ने लगातार एक ओर माओवादी घटना में कमी करने में सफलता प्राप्त की है, वहीं दूसरी ओर आकांक्षीय जिलों के विकास को सर्वोच्च प्राथमिकता दी गई है, कुपोषण के लड़ाई को सर्वोच्च प्राथमिकता दी गई है और अब छत्तीसगढ़ सही ट्रेक पर विकास की दिशा में आगे बढ़ रहा है। पूर्ववर्ती रमन सिंह की सरकार में तो गरीबी रेखा के नीचे रहने वाली की संख्या बढ़ती ही जा रही है। नीति आयोग ने देश के टॉप 5 जिलों की सूची जारी की है। यह जिले वित्तीय समावेश और कौशल विकास के क्षेत्र में देश में सबसे बेहतर बताए गये है। इन आंकांक्षी जिलों में छत्तीसगढ़ का नारायणपुर जिला पहले स्थान पर है। इस रैंकिग में तीसरे नंबर पर राजनांदगांव और पांचवें नंबर पर सुकमा जिला है। इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर राजस्थान का जैसलमेंर और चौथे स्थान पर मिजोरम का ममित जिला है।

 

error: Content is protected !!