उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव के लिए दी शुभकामनाएं

०० स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह ने योगी आदित्यनाथ को राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव का दिया न्यौता

०० योगी आदित्यनाथ ने चंदखुरी में माता कौशल्या के मंदिर और राम वन गमन परिपथ के विकास कार्य के लिए छत्तीसगढ़ सरकार की सराहना की

रायपुर| मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों को राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव में शामिल होने के लिए भेजे निमंत्रण को प्रदेश के स्कूली शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह लखनऊ में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को देते हुए उन्हें इस महोत्सव में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया। योगी आदित्यनाथ ने छत्तीसगढ़ में आयोजित होने वाली राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव के लिए अपनी शुभकामनाएं दी तथा छत्तीसगढ़ आने का आश्वासन भी दिया है। गौरतलब है कि राज्य सरकार द्वारा आगामी 27, 28, 29 दिसंबर को छत्तीसगढ़ में पहली बार राष्ट्रीय स्तर आदिवासी नृत्य महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है जिसके लिए सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों और वहां के आदिवासी नृतक दलों को इस महोत्सव में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया जा रहा है।
इस अवसर पर उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने काशी विश्वनाथ मंदिर वाराणसी में पूजा के लिए चढाए जाने वाले फूलों का सदुपयोग करते हुए इत्र अगरबत्ती और धूप बनाने की कार्य योजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी और इसे छत्तीसगढ़ में भी अमल करने करने का सुझाव दिया। इससे जहां महिला समूह को रोजगार मिलता है साथ ही साथ मंदिर में चढ़ाए जाने वाले फूलों का सदुपयोग भी होता है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने यह जानकर प्रसन्नता व्यक्त की छत्तीसगढ़ सरकार प्रभु राम की माता कौशल्या जी के मंदिर का जीर्णोउद्धार करने जा रही है और साथ ही साथ प्रभु राम वन गमन परिपथ के निर्माण का भी कार्य कर रही है। उन्होंने सलाह दी है कि भविष्य में माता कौशल्या मंदिर परिसर चंदखुरी में कोई ऐसा आयोजन किया जाए जिसमें उत्तर प्रदेश सरकार की सहभागिता भी सुनिश्चित हो सके। इस अवसर पर उन्होंने कुंभ पर आधारित पुस्तिका भी स्कूल शिक्षा मंत्री को भेंट की। इस अवसर पर संचालक समग्र शिक्षा श्री पी दयानंद और श्री आर. पी. सिंह उपस्थित थे।

error: Content is protected !!